ताज़ा खबर
 

आठ साल की बच्ची से 50 साल के मौलाना ने किया तीन बार रेप

बच्ची से दुष्कर्म के दौरान उसकी बड़ी बहन को इमाम मोबाइल गेम खेलने के लिए बाहर भेज देता था।

Author October 25, 2017 10:18 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर किया गया है।

Tabassum Barnagarwala

महाराष्ट्र के नागपाडा में आठ साल की बच्ची के परिजनों ने एक इमाम पर मासूम से तीन बार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। घटना चौकी मोहल्ला इलाके की है। मंगलवार (24 अक्टूबर) को जेजे मार्ग पुलिस ने आरोपी अब्दु्ल्लाह नाजी को मेडिकल जांच के लिए जेजे हॉस्पिटल भेजा। जहां से उसे चार दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया गया। पीड़िता के पिता ने बताया, ‘मेरे चार बच्चे मदरसे में तालीम हासिल करने के लिए जाते थे। ये जगह घर से महज एक गली दूर है। इनमें मेरी दो बेटियां, जिनकी उम्र 12 और 8 साल है, पिछले छह महीने से रोज मदरसे जाती थीं। हमें बताया गया था कि इमाम बहुत अच्छा आदमी है। यहां तक मेरा भाई भी रोज वहां जाता था।’ गौरतलब है कि बीते 9 अक्टूबर को बच्ची घर लौटी तो उसने पेट दर्द की शिकायत की। शक के आधार पर बच्ची की बड़ी बहन ने सारी जानकारी मां को दी। पिता ने बताया, मदरसे का इमाम मोबाइल में गेम खेलने के बहाने बड़ी बहन को मदरसे से बाहर भेजता था। तब 8 अक्टूबर को मैं नासिक में था। अगले दिन घर लौटा तो पत्नी ने सुबह जल्दी उठा दिया और किसी जरूरी मुद्दे पर बातचीत करने की बात कही। मेरी पत्नी ने बताया कि इमाम ने हमारी बच्ची के साथ कुछ गलत किया है।

शुरू में लगा की ये झूठ है। एक इमाम कैसे ऐसी हरकत कर सकता है। 10 अक्टूबर को मैंने बेटी को स्कूल से बुलाया तो वो काफी डरी हुई थी। तब हमने पुलिस में शिकायत करने से पहले एक निजी डॉक्टर से मदद की गुहार लगाई। क्योंकि एक तरफ कौम है, एक तरफ बेटी है।
शक यकीन में बदलने के बाद 14 अक्टूबर को इमाम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई। मेडिकल जांच में भी बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई। वहीं आरोपी इमाम को शफी मस्जिद से हटा दिया गया है, जो मूल रूप से नेरल का रहने वाला है। दूसरी तरफ कक्षा पांच में पढ़ने वाली बच्ची इतनी डरी हुई है कि कुछ भी बोलने में काफी डर रही है। पुलिस ने मस्जिद के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की छानबीन शुरू कर दी है। हालांकि मदरसे में कैमरा नहीं लगा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App