ताज़ा खबर
 

बड़ी लापरवाही: तेजस एक्‍सप्रेस का नाश्‍ता कर बीमार हो गए 24 यात्री

IRCTC के अधिकारी के मुताबिक यात्रियों को वेज और नॉन वेज दोनों तरह का खाना परोसा गया था। लेकिन गड़बड़ी किस खाने में है ये अबतक पता नहीं चल पाया है।

Tejas Express, passengers ill, passengers ill after eating breakfast, breakfast, Tejas Express passengers, IRCTC, Indian Railway, food poisoning, CST Madgaon, Karmali-Chatrapati Shivaji Maharaj Terminus Tejas Express, Hindi news, Mumbai news, News in Hindi, Jansattaभारत की प्रीमियम ट्रेन तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत इसी साल मई 2017 में हुई थी (Express photo by Nirmal Harindran 21st May 2017, मुंबई )

पैसेंजर्स को वीआईपी सुविधा और शानदार खाना देने का दावा करने वाले तेजस एक्सप्रेस में एक भारी चूक हुई है। रविवार (15 अक्टूबर) को करमाली-सीएसटी तेजस एक्सप्रेस में पैंट्री कार का नाश्ता खाकर 24 यात्री बीमार हो गये। इनमें से 3 यात्रियों की हालत बेहद गंभीर है। इन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है।  कोंकण रेलवे के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक संजय गुप्ता ने बताया कि तेजस एक्प्रेस में रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) का खाना खाने के बाद यात्रियों ने अस्वस्थ होने की शिकायत की। उन्होंने बताया कि ट्रेन को चिपुलान स्टेशन पर रोका गया और अस्वस्थ सभी 26 यात्रियों को शहर के लाइफ केयर अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनकी हालत गंभीर नहीं है।आईआरसीटीसी के एक अधिकारी ने बताया कि, ”ट्रेन में सवार सभी 290 यात्रियों को नाश्ता दिया दिया गया, दोपहर 12 बजे के लगभग तीन यात्रियों ने शिकायत की कि उन्हें बेचैनी लग रही है और उन्हें उल्टी आ रही ही है, कुछ ही देर में दूसरे यात्रियों ने भी ऐसी ही शिकायत की।’ बता दें कि ट्रेनों में खाना और नाश्ता IRCTC के वेंडर परोसते हैं। IRCTC टेंडर द्वारा इनका चयन करती है।

IRCTC के अधिकारी के मुताबिक यात्रियों को वेज और नॉन वेज दोनों तरह का खाना परोसा गया था। लेकिन गड़बड़ी किस खाने में है ये अबतक पता नहीं चल पाया है। IRCTC के अधिकारी ने कहा, ‘हमें अबतक ये पता नहीं है कि फूड प्वायजनिंग वेज या नॉन वेज खाने से हुई थी।’ इस घटना के बाद मुंबई पैसेंजर्स के रिश्तेदार बेहद नाराज दिखे। उन्होंने कहा कि प्रीमियम ट्रेन होने का दावा करने और इतना महंगा किराया लेने के बावजूद रेलवे की ओर से लापरवाही की जा रही है। ये आरामदायक यात्रा के रेलवे के दावे पर सवाल खड़ा करता है।

इंडियन रेल के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने भी कहा है कि इस मामले कॉन्ट्रैक्टर को नोटिस दिया गया है और रिपोर्ट के आधार पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि अस्पताल से रिपोर्ट ली गई है और किसी भी पैसेंजर की हालत गंभीर नहीं है। पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 22मई को देश की पहली हाईस्पीड और सुविधाओं से युक्त रेलगाड़ी तेजस एक्सप्रेस को मुंबई के छत्रपति शिवाजी स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। यह नई प्रीमियम रेलगाड़ी मुंबई से गोवा के करमाली के बीच सप्ताह में पांच दिन चलती है। यह रेलगाड़ी 130 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल सकती है। इसमें ऑटोमेटिक दरवाजे, वाईफाई और एलसीडी स्क्रीन हैं। साथ ही इसमें टचलेस वॉटर टैप, वॉटर लेवल इंडीकेटर और हैंड ड्रायर भी हैं। सभी डिब्बों में बॉयो वैक्युम टॉयलेट भी है।

Next Stories
1 नांदेड़ महानगर पालिका चुनाव 2017: शिवाजी के फार्मूले से कांग्रेस ने नांदेड़ में लहराया विजय पताका, बीजेपी नहीं लगा पाई सेंध
2 मुंबई पुल पर मची भगदड़ की वजह थी बरसात: जांच रिपोर्ट
3 आत्महत्या करना चाहती थी सिंगर कैलाश खेर की पत्नी, जानिए क्यों थी जान देने पर आमदा
ये पढ़ा क्या?
X