ताज़ा खबर
 

2008 मालेगांव बम विस्फोट, कर्नल प्रसाद पुरोहित को नहीं मिली ज़मानत

29 सितंबर, 2008 को हुए विस्फोट के मामले में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और पुरोहित समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।
Author मुंबई | September 26, 2016 22:09 pm
2008 के मालेगांव बम विस्फोट मामले के मुख्य आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित। (फाइल फोटो)

एनआईए की एक विशेष अदालत ने सोमवार (26 सितंबर) को वर्ष 2008 के मालेगांव बम विस्फोट मामले के मुख्य आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित की जमानत याचिका खारिज कर दी। विशेष न्यायाधीश एस डी टिकाले ने यह आदेश पारित किया। पुरोहित ने इस मामले में उनके खिलाफ महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण अधिनियम (मकोका) के तहत लगाए गए आरोपों को एनआईए द्वारा वापस लिए जाने और गैर-कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत प्राप्त अभियोजन की मंजूरी को दोषपूर्ण बताते हुए जमानत के लिए आवेदन किया था।

पुरोहित ने कहा कि विस्फोट में उनकी कोई भूमिका नहीं थी। उन्होंने साथ ही कहा कि वह बिना मुकदमा चलाए पिछले सात वर्षों से जेल में है। हालांकि एनआईए ने पुरोहित की जमानत याचिका का यह कहते हुए विरोध किया कि मुकदमे के दौरान उनकी जिरह को संज्ञान में लिया जाएगा, इस चरण में नहीं। विभाग ने कहा कि प्रथम दृष्टया पुरोहित के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य हैं। महाराष्ट्र के मालेगांव शहर में 29 सितंबर, 2008 को हुए विस्फोट के मामले में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और पुरोहित समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इस विस्फोट में छह लोगों की मौत हुई थी और 100 अन्य घायल हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.