ताज़ा खबर
 

बच्चे को एयरपोर्ट पर छोड़कर विदेश घूमने निकला परिवार, ट्रैवल कंपनी पर लगाया पूरे कागज न देने का आरोप

उन्होंने सोचा था कि उनका बेटा मनीष के परिवार के साथ घूमने चला जाएगा, इसके लिए उन्होंने ट्रैवल कंपनी द्वारा सारी प्रक्रिया पूरी कर ली थी।
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (File photo)

एक विज्ञापन बिजनसमैन ने मुंबई स्थित हीना टूर एंड ट्रैवल कंपनी पर केस कर अपने बेटे के लिए मुआवजे की मांग की है। बिजनसमैन पीयूष ठक्कर ने कंपनी पर आरोप लगाया है कि उन्होंने उनके 6 वर्षीय बेटे जय के सारे कागज नहीं दिए जिसकी वजह से मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उसे अपने परिवार के साथ दक्षिण अफ्रीका घूमने के लिए नहीं जाने दिया गया। ठक्कर ने बताया कि उन्होंने घूमने जाने की योजना बनाई थी लेकिन 18 अप्रैल को उनकी एंजियोप्लास्टी हुई थी। डॉक्टरों ने उन्हें आराम करने और तनाव से दूर रहने के लिए कहा था, जिसके कारण उन्होंने अपना और अपनी बीवी का टिकट कैंसल कराकर अपने भाई मनीष और उसकी बीवी का टिकट करा दिया था। उन्होंने सोचा था कि उनका बेटा मनीष के परिवार के साथ घूमने चला जाएगा, इसके लिए उन्होंने ट्रैवल कंपनी द्वारा सारी प्रक्रिया पूरी कर ली थी।

पीयूष ने बताया कि एयरपोर्ट पहुंचने के बाद वहां की ऑथोरिटी ने सभी को जाने की इजाजत दे दी लेकिन जय को रोक दिया। जब पीयूष के भाई मनीष ने ऑथोरिटी से इसका कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि बच्चा बिना माता-पिता के ट्रेवल कर रहा है इसलिए उसके पास उससे संबंधित एक एफिडेबिट होने चाहिए तभी बच्चे को जाने की इजाजत दी जाएगी। दक्षिण अफ्रीका में बच्चों के नियमों को लेकर कुछ कानून बहुत ही सख्त हैं, इसलिए बच्चे के महत्वपूर्ण कागज होना बहुत ही जरूरी है। पीयूष ने कहा कि कंपनी से कहकर हमने एफिडेबिट पहले ही बनवाया था लेकिन उन्होंने हमें पूरे कागज नहीं पहुंचाए। मुझे मनीष ने आधीरात को 3 बजे फोन कर इस मामले की जानकारी दी।

यह सुनते ही बिना अपनी तबियत की परवाह किए मुझे एयरपोर्ट अपने बेटे को लेने के लिए जाना पड़ा। मैं एयरपोर्ट पहुंचा तो जय रो रहा था। पीयूष ने कहा कि यह गलती टूर एंड ट्रैवल कंपनी की है। उन्हेंं मेरे बेटे के सभी जरूरी कागजात देने चाहिए थे। अब ट्रैवल कंपनी को हर्जाने के तौर पर दिवाली की छुट्टियों में मेरे बेटे के लिए 12 दिन का मुफ्त पैकेज देना होगा। वहीं इस मामले पर टूर एंड ट्रैवल कंपनी का कहना है कि उनके द्वारा कोई गलती नहीं हुई है। उन्होंने उनके परिवार को बच्चे के सभी कागज दिए थे। खुद पर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कंपनी ने कहा कि हम पीयूष के लीगल नोटिस का जल्द ही उचित जवाब देंगे।

देखिए वीडियो - जेट एयरवेज के मुंबई से दिल्ली जा रहे विमान में हाईजैक की अफवाह; यात्री ने किया था पीएम मोदी को ट्वीट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.