ताज़ा खबर
 

डॉक्‍टर चलाता था जि‍स्‍म की मंडी, सोशल मीडिया के जरिए संपर्क साध लड़क‍ियों को हेप्‍नोटाइज कर देता था ड्रग्‍स

कुलकर्णी के फेसबुक पेज पर कामोत्तेजक तस्वीरें और सेक्सुअल मैसेजेज रहते थे। इनमें वह यंगस्टर्स को "अपने नग्न शरीर और नग्न भावनाओं का अनुभव" करने के लिए आमंत्रित करता था।
सुनील कुलकर्णी फेसबुक पर ‘शिफू संकृति’ नाम से एक पेज चलाता है और युवाओं से यंग कल्चर के नाम पर ज्वाइन करने को कहता था।

मुंबई जैसे महानगर में युवा ड्रग्स की चपेट में पहले से आते रहे हैं लेकिन जैसे-जैसे तकनीक बदलती गई, वैसे-वैसे न केवल ऐसे रैकेट का दायरा बड़ा होता गया बल्कि उसके दलदल में फंसने वाले युवाओं की संख्या भी बढ़ती गई। अब लोग नए-नए तरीके ईजाद कर इस तरह के रैकेट चला रहे हैं और युवाओं को अपना शिकार बना रहे हैं। सोशल मीडिया पर इसी तरह के एक ड्रग्स और सेक्स रैकेट का पर्दाफाश मुंबई के मलाड में रहने वाले एक दंपत्ति ने किया है जिसमें उसकी दो जवान बेटियां फंस चुकी है। उनकी दोनों बेटियों की उम्र 21 और 23 साल है। इस दंपत्ति के मुताबिक उनकी दोनों बेटियां एक ऐसे गिरोह के चंगुल में फंस चुकी है जो ड्रग्स और सेक्स रैकेट चलाता है। इनके मुताबिक इस गिरोह के लोग सोशल मीडिया का सहारा लेकर युवाओं को फांसते हैं फिर उनका शोषण करते हैं।

इस दंपत्ति ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अपनी बेटी को रैकेट के मास्टरमाइंड 55 वर्षीय सुनील कुलकर्णी के चंगुल से छुड़ाने और वापस पाने के लिए मदद मांगी थी। बुधवार को दो और दंपत्ति ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया और कहा कि कुलकर्णी ने उनकी बेटियों को अपनी चंगुल में ले रखा है। जब हाईकोर्ट ने इस मामले में मुंबई पुलिस को फटकार लगाई तो पुलिस ने कुलकर्णी को आज (गुरुवार, 20 अप्रैल को) गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल, सुनील कुलकर्णी फेसबुक पर ‘शिफू संकृति’ नाम से एक पेज चलाता है और युवाओं से यंग कल्चर के नाम पर ज्वाइन करने को कहता था। इसके लिए फेसबुक पेज पर वह युवाओं को फोन नंबर डालने को कहता था। नंबर मिलने के बाद कुलकर्णी युवाओं को फोन करता था और कल्चर के बारे में उन्हें बताता था।

दंपति की याचिका के मुताबिक, कुलकर्णी के फेसबुक पेज पर कामोत्तेजक तस्वीरें और सेक्सुअल मैसेजेज रहते थे। इनमें वह यंगस्टर्स को “अपने नग्न शरीर और नग्न भावनाओं का अनुभव” करने के लिए आमंत्रित करता था। कामोत्तेजक मैसेज से प्रभावित होकर कई लोग उसका ग्रुप ज्वाइन कर लेते थे। इसके बाद वह लड़कियों को ड्रग्स देकर और हिप्नोटाइज कर उसके साथ खुद सेक्स करता था या अन्य लोगों से कराता था। याचिका में कुलकर्णी को एक डॉक्टर और साइकैट्रिक बताया गया है। इस दंपत्ति के मुताबिक रैकेट में शामिल होने के बाद उनकी दोनों बेटियों के व्यवहार में अचानक बदलाव आ गया और वो हिंसक हो गई। बात-बात पर मरने की बात करने लगी। यहां तक कि उन दोनों ने उल्टे मां-बाप के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करा दी।

याचिका में कहा गया है कि कुलकर्णी 18 साल से 25 साल तक की लड़कियों को अपना शिकार बनाता था। उसके खिलाफ दिल्ली और मुंबई में कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। अदालत ने लड़कियों के बयान को मानने से इनकार कर दिया और कहा कि ये लोग कुलकर्णी के प्रभाव और काउन्सिलिंग की वजह से उनके पक्ष में बोल रही हैं।

वीडियो: करीना कपूर ने रखी हाऊस पार्टी; आकर्षक लुक में दिखी सारा अली खान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.