scorecardresearch

शिंदे गुट के विधायक ने समर्थकों से कहा- दादगीरी नहीं चलने देंगे, अगर उनके हाथ नहीं तोड़ सकते तो पैर तोड़ दो, मैं तुम्‍हें बेल दिलाऊंगा, वायरल हो रहा वीडियो

Maharashtra News: असली और नकली शिवसेना को लेकर शिंदे गुट और उद्धव ठाकरे गुट आमने-सामने हैं।

शिंदे गुट के विधायक ने समर्थकों से कहा- दादगीरी नहीं चलने देंगे, अगर उनके हाथ नहीं तोड़ सकते तो पैर तोड़ दो, मैं तुम्‍हें बेल दिलाऊंगा, वायरल हो रहा वीडियो
Maharashtra Politics: एकनाथ शिंदे (Photo Credit- Express Archives)

Maharashtra News: उद्धव ठाकरे की शिवसेना ने हाल ही में एक समारोह में अपने बयान के लिए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट के विधायक प्रकाश सुर्वे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की है। प्रकाश सुर्वे ने असली और नकली शिवसेना को लेकर एक बयान दिया था कि यदि आप (अपने समर्थकों से विरोधियों को लेकर) उनका हाथ नहीं तोड़ सकते, तो उनका पैर तोड़ दें। मैं अगले दिन तुम्हें जमानत दिलवाऊंगा।

प्रकाश सुर्वे के भाषण का वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हैं। वह 14 अगस्त को मुंबई के मगथाने इलाके के कोकणी पाड़ा बुद्ध विहार में एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। प्रकाश सुर्वे ने बयान देते हुए कहा था, “अगर कोई आपको कुछ कहता है, तो उन्हें जवाब दें। किसी की दादागिरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आपने उन्हें मारा। मैं प्रकाश सुर्वे यहां आपके लिए हूं। मैं तुम्हें अगले दिन जमानत दिलवाऊंगा, चिंता मत करो।”

उन्होंने आगे कहा कि हम किसी से नहीं लड़ेंगे, लेकिन अगर कोई हमसे लड़ता है, तो हम उन्हें नहीं बख्शेंगे। शिंदे गुट के विधायक के बयान का विरोध करते हुए ठाकरे गुट की ओर से दहिसर थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। विपक्ष द्वारा आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी और इस मुद्दे के सामने आने की संभावना है। इसके बाद मुख्यमंत्री शिंदे की प्रेस वार्ता होनी है, जिसपर वह जवाब दे सकते हैं।

बता दें कि शिवसेना में सिंबल को लेकर ठाकरे गुट और शिंदे गुट में जंग चल रही हैं और मामला कोर्ट में है। इसमें अन्य आवश्यकताओं के अलावा पार्टी इकाइयों में भी बहुमत के प्रमाण की आवश्यकता होती है। मामला पहले से ही सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग में है।

बता दें कि एकनाथ शिंदे जून महीने में शिवसेना से बगावत कर 39 शिवसेना विधायकों के साथ गुवाहाटी चले गए थे। उनके साथ 11 अन्य विधायक भी थे। इसके बाद महाराष्ट्र सरकार गिर गई थी। फिर शिंदे ने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली और खुद मुख्यमंत्री बन गये। वहीं नई सरकार में देवेन्द्र फडणवीस उपमुख्यमंत्री बने हैं। इसके बाद शिंदे गुट ने दावा किया कि बहुमत उनके पास है और उनका गुट असली शिवसेना है

पढें महाराष्ट्र (Maharashtra News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.