ताज़ा खबर
 

पुणे मिलिट्री हॉस्पिटल में सेना के जवानों पर दिव्यांग से रेप का आरोप, केस दर्ज

पुणे के मिलिट्री हॉस्पिटल में दिव्यांग महिला से रेप का मामला सामने आने से हड़कंप मचा है। आरोप सेना के चार जवानों पर है जिनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में पुणे के मिलिट्री हॉस्पिटल में चार सैनिक जवानों द्वारा एक दिव्यांग महिला का बलात्कार करने का मामला सामने आया है। पिछले कुछ सालों से महिला के साथ लगातार बलात्कार किया जा रहा था। हॉस्पिटल प्रशासन को इस बात की शिकायत करने के बावजूद मिलिट्री हॉस्पिटल का प्रशासन ने इस मामले में चुप्पी साध रखी थी। इस घटना से पूरे सुरक्षा मंत्रालय में खलबली मच गई है। महिला द्वारा सुरक्षा मंत्रालय, भारत से इस मामले में मदद मांगने के बाद हड़कंप मच गया। महिला द्वारा बार-बार शिकायत करने के बाद जब किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई तो महिला ने इंदौर के दंपति की मदद से खड़की पुलिस स्टेशन में शिकायत दायर करायी है। देर रात खड़की पुलिस स्टेशन में यह मामला दर्ज किया गया है।

महिला ने जब सुरक्षा मंत्रालय के प्रमुख से इस मामले में शिकायत की तो मंत्रालय ने महिला की शिकायत पर दखल लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। 34 वर्षीय पीड़ित महिला पुणे के मिलिट्री हॉस्पिटल में कार्य करती है। आरोप है कि वर्ष 2015 से महिला के साथ बलात्कार किया जा रहा है। भारतीय सेना के तीन जवानों द्वारा अलग-अलग समय पर उससे रेप किया गया और अन्य एक जवान द्वारा महिला के साथ यौन शोषण किए जाने की बात सामने आयी है। पीड़ित महिला द्वारा शिकायत किए जाने पर विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं।

यह मामला तब उजागर हुआ जब बार-बार हॉस्पिटल प्रशासन को शिकायत करने के बाद भी किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई। महिला ने पुलिस हेल्पलाइन इंदौर के जरिए और एनजीओ की मदद से डीआईजी को इस बात की शिकायत की। पीड़ित महिला को जब पुणे में न्याय नहीं मिला तो वह इंदौर न्याय मांगने के लिए पहुंच गई थी। पीड़ित महिला ने पुलिस हेल्पलाइन के प्रमुख पुरोहित दंपति से मदद मांगी थी। डीआईजी के पास शिकायत करने पर डीआईजी ने मदद करने का आश्वासन दिया।

पुणे में नहीं मिला न्याय महिला पहुंची इंदौर
महिला को पुणे में न्याय नहीं मिलने के बाद इंदौर के पुलिस हेल्पलाइन के प्रमुख पुरोहित दंपति से संपर्क किया। पुरोहित दंपति द्वारा महिला ने इंदौर में डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र से मुलाकात की। डीआईजी मिश्र ने पुणे में आकर पुणे के पुलिस अधिकारियों को इस घटना की जानकारी दी। साथ ही डीआईजी ने महिला को न्याय दिलाने में मदद करने का आश्वासन दिया। महिला को एक 12 साल का बेटा है। महिला के पति का देहांत होने के बाद महिला जीवन निर्वाह के लिए पुणे के खड़की स्थित मिलिट्री हॉस्पिटल में कार्य करती थी। महिला को मदद करने के बहाने सेना के जवानों द्वारा बलात्कार किया गया। महिला अपनी भाषा में अपना दुखड़ा किसी को समझा नहीं पा रही थी। दंपति की मदद से यह सारी सच्चाई बाहर आयी है। आखिरकार पीड़ित महिला और दंपति के कठिन प्रयासों के चलते मामला दर्ज कर लिया गया है और पुलिस इस मामले में अधिक जांच कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App