ताज़ा खबर
 

बेरोजगारों से अब चूहे मरवाएगी बीएमसी, अब तक दो लाख से ज्यादा चूहों को उतारा मौत के घाट

मानसून आते ही मुंबई की महानगर पालिका के सामने ढेरों चुनौतियां खड़ी हो गई हैं। इन्हीं में से एक चुनौती गलियों में पानी भरने के बाद निकलने वाले चूहों की है। ये चूहे हर साल मानसून के मौसम में लेप्टोस्पायरोसिस नाम की संक्रामक बीमारी फैलाते हैं।

Author Published on: July 19, 2018 8:01 PM
मुंबई के मरीन ड्राइव में समुद्र तट के किनारे उठती ऊंची लहरों के बीच गुजरते हुए लोग। फोटो- पीटीआई

मानसून आते ही मुंबई की महानगर पालिका के सामने ढेरों चुनौतियां खड़ी हो गई हैं। इन्हीं में से एक चुनौती गलियों में पानी भरने के बाद निकलने वाले चूहों की है। ये चूहे हर साल मानसून के मौसम में लेप्टोस्पायरोसिस नाम की संक्रामक बीमारी फैलाते हैं। चूहों से फैलने वाली इस बीमारी को आम भाषा में मस्तिष्क ज्वर या दिमागी बुखार भी कहा जाता है। बीएमसी ने चूहों से निपटने के लिए कमर कस ली है। बीएमसी ने योजना बनाई है कि वह रात में इन चूहों को मारने का मौका बेरोजगारों युवकों को देना चाहती है।

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए बृह्न मुंबई नगरपालिका के पशु संक्रमण निरोध अधिकारी आर ए नरिनगरेकर ने बताया,”पिछले छह महीनों में बीएमसी ने 2,27,000 चूहों को मारा है। चूहों की बढ़ती तादाद और संक्रामक बीमारी फैलने के खतरे की आशंका से हम चितिंत है। हमने चूहों को मारने के लिए रात में चूहामार अभियान चलाने का फैसला किया है। हम चूहा मारने के काम के जरिए बेरोजगारों युवकों को रोजगार का मौका भी देना चाहते हैं। इस मानसून में पानी भरने के कारण लेप्टोस्पायरोसिस फैलने का खतरा बढ़ गया है। इससे निपटने के लिए हमें काम की गति को और तेज करने की जरूरत पड़ेगी।”

वैसे बता दें कि महाराष्ट्र के मुंबई और ठाणे में लगातार भारी बारिश हो रही है। सोमवार को नाला सोपारा, वसई, नवी मुंबई और ठाणे के कई इलाकों में पानी भर गया था। जबकि नाला सोपारा, माटुंगा और किंग सर्किल रेलवे स्टेशन पर ट्रैक पर पानी भरने से वेस्टर्न लाइन की लोकल ट्रेनें 30 मिनट की देरी से चलीं थीं। बरसात के कारण लगातार होने वाले नुकसान का अनुमान अभी नहीं लग पाया है।

मुंबई के दादर, सायन, माटुंगा, बांद्रा, खार, सांताक्रूज, कांदिवली, बोरीवली और कोलाबा समेत कई इलाकों में लगातार तेज बारिश हो रही है। महाराष्ट्र के शिक्षामंत्री विनोद तावड़े ने मुंबई के सभी स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी की घोषणा कर दी है। वहीं मौसम विभाग के मुताबिक, रविवार सुबह 8.30 बजे से सोमवार सुबह 8.30 बजे तक कोलाबा में 170.6 मिलीमीटर और सांताक्रूज में 122 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई थी। जबकि घाटकोपर स्टेशन के एक ब्रिज पर दरारें नजर आने के बाद इसे बंद कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 महाराष्ट्र की स्कूली किताबों में गुजराती में पन्ने, एनसीपी नेता ने विधान भवन में दी आत्महत्या की धमकी