ताज़ा खबर
 

BMC चुनाव 2017: मुंबई की पूर्व मेयर श्रद्धा जाधव ने लगातार छठी बार दर्ज की जीत, शिवसेना का बेहतर प्रदर्शन जारी

BMC Chunav Result: श्रद्धा जाधव ने सबसे पहले साल 1992 में परेल के वार्ड नंबर 36 से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर बीएमसी चुनावों में जीत दर्ज की थी।

45 वर्षीय श्रद्धा जाधव दिसंबर 2009 से मार्च 2012 तक बृहन्मुंबई नगरपालिका की मेयर रह चुकी हैं।

मुंबई नगरपालिका (बीएमसी) चुनावों में शिव सेना का उम्दा प्रदर्शन जारी है। इस बीच शिव सेना की प्रत्याशी और मुंबई की पूर्व मेयर श्रद्धा जाधव ने वार्ड नंबर 202 से लगातार छठी बार बीएमसी चुनावों में जीत दर्ज की है। 45 वर्षीय श्रद्धा जाधव दिसंबर 2009 से मार्च 2012 तक बृहन्मुंबई नगरपालिका की मेयर रह चुकी हैं। श्रद्धा मूल रूप से महाराष्ट्र के कोंकण इलाके के संगामेश्वर की रहनेवाली हैं। श्रद्धा ने सबसे पहले साल 1992 में परेल के वार्ड नंबर 36 से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर बीएमसी चुनावों में जीत दर्ज की थी। इसके बाद उन्होंने इसी वार्ड से दो बार लगातार जीत दर्ज की। साल 1998 में श्रद्धा शिव सेना में शामिल हो गईं। तब उनकी काबिलियत को देखते हुए मुंबई के मेयर नंदू सताम ने उन्हें अपने 11 सदस्यों की टीम में जगह दी थी। श्रद्धा जाधव ने साल 2006 के महाराष्ट्र विधान सभा उपचुनावों मे नारायण राणे के करीबी कालीदास कोलाम्बकर को कड़ी टक्कर दी थी।

BMC चुनाव नतीजे 2017: लाइव अपडेट पढ़ने के लिए क्लिक करें-

श्रद्धा जाधव ने साल 2009 में कांग्रेस के प्रेसिला कदम को मुंबई मेयर के चुनाव में कड़ी शकिस्त दी थी। श्रद्धा बीजेपी-शिवसेना की तरफ से उम्मीदवार थीं। तब कांग्रेस ने श्रद्धा को हराने के लिए शिव सेना से ही टूटकर बनी राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नव निर्माण सेना और समाजवादी पार्टी के काउन्सलरों की मदद ली थी। बावजूद इसके श्रद्धा देश के सबसे धनी और सबसे बड़े बजट वाली नगरपालिका यानि बीएमसी का टॉप मोस्ट पोस्ट हासिल करने में कामयाब रही थीं।

Shiv Sena, Shraddha Jadhav शिव सेना कार्यकर्ताओं के साथ श्रद्धा जाधव।

देश की सबसे धनी म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन में शामिल बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) की मतगणना के शुरूआती रुझानों के मुताबिक, शिवसेना आगे चल रही है। आज साफ हो जाएगा कि लगभग 37 हजार 52 करोड़ रुपये बजट वाली इस नगर निगम का कर्ताधर्ता कौन बनेगा। 1 .22 बजे तक मिली जानकारी के मुताबिक, शिवसेना 86 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं बीजेपी 49 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। कांग्रेस – 16 सीटों पर , MNS – 10 और एनसीपी पांच सीटों पर आगे चल रही हैं। अभी तक भाजपा 12 सीटों पर जीत दर्ज की है। वहीं शिवसेना ने 7 सीटे जीती हैं। बीएमसी चुनाव के मुद्दे पर पत्रकार निखिल वाघले ने कहा,” बाला साहब के निधन के बाद यह पहला बीएमसी चुनाव है अगर इसमें शिवसेना 100 सीट भी जीत जाती है तो यह पिछले बीस साल में उसका सबसे अच्छा प्रदर्शन होगा।

बीएमसी की 227 सीटों के लिए मंगलवार (21 फरवरी) को वोटिंग हुई थी। इस बार बीएमसी चुनाव इसलिए ख़ास है क्योंकि शिवसेना और बीजेपी ने अपनी 25 साल पुरानी दोस्ती को तोड़कर ये चुनाव अलग-अलग लड़ा है । इसलिए ये चुनाव सीएम देवेन्द्र फड़नवीस और शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे दोनों के लिए अहम माना जा रहा है।

PCMC चुनाव नतीजे 2017: के ताजा अपडेट जानने के लिए क्लिक करें-

नासिक नगर निकाय चुनाव नतीजे 2017: के ताजा अपडेट जानने के लिए क्लिक करें-

नागपुर निकाय चुनाव नतीजे 2017: के ताजा अपडेट जानने के लिए क्लिक करें-

BMC चुनाव 2017: शिवसेना की कई गढ़ों में बीजेपी का दबदबा, पार्टी प्रवक्ता जतिन गजारिया का दावा

वीडियो देखिए- BMC चुनाव 2017: आमिर खान के विज्ञापन पर मचा बवाल, शिवसेना और कांग्रेस खफा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App