ताज़ा खबर
 

केमिकल फैक्ट्री में आग से 3 मरे, इतना तेज धमाका कि 3 किमी दूर खिड़कियों के टूटे शीशे

इस आग से छह फैक्ट्रियां प्रभावित हुई हैं, जिनमें नोवाफेने, यूनिमेक्स, प्राची, आरती, भारत रसायन और दरबार शामिल हैं। ये सभी केमिकल फैक्ट्रियां हैं। सर्च ऑपरेशन के दौरान आरती इंडस्ट्रीज से तीन शव बरामद हुए, जिनकी अभी तक कोई पहचान नहीं हुई है।

यह हादसा तारापुर के महाराष्ट्र इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट कोर्परेशन इलाके पालघर में हुआ। (Source: Express Photo by Amit Chakravarty)

महाराष्ट्र में एक केमिकल फैक्ट्री में आग लगने से तीन लोगों की मौत हो गई है और कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। यह हादसा तारापुर के महाराष्ट्र इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के पालघर इलाके में हुआ। गुरुवार देर रात इस फैक्टरी में हुआ धमाका इतना तेज था कि तीन किलोमीटर दूर तक खिड़कियों के शीशे टूट गए। उच्च तापमान और प्रेशर के कारण बॉयलर फट जाने से यह हादसा हुआ था। इस ब्लास्ट के बाद छह यूनिट तक के इलाके में आग फैल गई। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस और फायर ब्रिगेड के आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे।

पालघर के एसपी ने इस मामले की जानकारी देते हुए कहा, “आग पर काबू पा लिया गया है, लेकिन अभी भी कई इलाकों में आग लगी हुई है। इस आग से छह फैक्ट्रियां प्रभावित हुई हैं, जिनमें नोवाफेने, यूनिमेक्स, प्राची, आरती, भारत रसायन और दरबार शामिल हैं। ये सभी केमिकल फैक्ट्रियां हैं। सर्च ऑपरेशन के दौरान आरती इंडस्ट्रीज से तीन शव बरामद हुए, जिनकी अभी तक कोई पहचान नहीं हुई है। फिलहाल, सर्च और रेसक्यू ऑपरेशन जारी है।” घायलों को इलाज के लिए पालघर के ठुंगा, संजीवनी, विकास, आनंद और सरकारी ग्रामीण अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Moto C Plus 16 GB 2 GB Starry Black
    ₹ 6916 MRP ₹ 7999 -14%
    ₹0 Cashback

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ब्लास्ट के कारण पूरे इलाके में धुआ फैल गया। जल्द ही इलाके की बिजली को भी काट दिया गया।  बोइसर पुलिस थाने के अधिकारियों ने बताया कि यह ब्लास्ट इतना तेज था कि घटनास्थल से तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस पुलिस थाने के शीशे टूट गए। एक अधिकारी ने बताया, “जब यह हादसा हुआ, तब मैं अपने घर पर था जो घटनास्थल से पांच किलोमीटर की दूरी पर है। ब्लास्ट इतना तेज था कि हमारे घर की खिड़कियां जोर-जोर से हिलने लगीं।” बता दें कि तारापुर के इस इलाके में 1,100 केमिकल फैक्ट्रियां और 400 से 500 अन्य फैक्ट्रियां हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App