ताज़ा खबर
 

ED के ऐक्शन पर बोले NCP चीफ शरद पवार- दिल्ली की ‘गद्दी’ के आगे झुकूंगा नहीं, संविधान पर है यकीन

पवार ने कहा, ‘‘मैं विधानसभा चुनाव के प्रचार के लिए अधिकतर मुंबई से बाहर रहूंगा। एजेंसी के अधिकारियों को यह नहीं समझना चाहिए कि मैं उपलब्ध नहीं हूं। मैं उनके पास जाऊंगा और जो भी जानकारी वे चाहते हैं, उन्हें दूंगा।’’

Author मुंबई | Updated: September 25, 2019 6:38 PM
एनसीपी चीफ शरद पवार (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार ने मंगलवार को कहा कि वह प्रवर्तन निदेशालय द्वारा उनके खिलाफ दर्ज धनशोधन के मामले के सिलसिले में 27 सितंबर को एजेंसी के दफ्तर जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि वे दिल्ली के तख्त के सामने नहीं झुकेंगे। पवार ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई के समय पर भी सवाल उठाया। ईडी ने 21 अक्टूबर को होने वाले महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पहले ही यह कार्रवाई की है। राकांपा अध्यक्ष ने कहा कि वह 27 सितंबर को दोपहर 2 बजे ईडी दफ्तर जाएंगे और महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले के सिलसिले में जो भी जानकारी उनके पास होगी, एजेंसी को देंगे।

पवार ने कहा, ‘‘मैं विधानसभा चुनाव के प्रचार के लिए अधिकतर मुंबई से बाहर रहूंगा। एजेंसी के अधिकारियों को यह नहीं समझना चाहिए कि मैं उपलब्ध नहीं हूं। मैं उनके पास जाऊंगा और जो भी जानकारी वे चाहते हैं, उन्हें दूंगा।’’ उन्होंने कहा कि वह भारत के संविधान में भरोसा रखते हैं। पवार ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र, छत्रपति शिवाजी महाराज के विचारों पर चलता है। हमें दिल्ली तख्त के सामने झुकना नहीं आता।’’ ईडी ने बंबई उच्च न्यायालय के निर्देशों पर बैंक घोटाले के सिलसिले में पवार, उनके भतीजे अजीत पवार तथा 70 अन्य के खिलाफ धनशोधन का मामला दर्ज किया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि ईडी ने उच्च न्यायालय के निर्देश पर मामला दर्ज किया है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ईडी की कार्रवाई के पीछे राजनीतिक मकसद की बात करना और इसे राजनीतिक दुश्मनी बताना गलत होगा।’’ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की युवा शाखा के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। वे पार्टी प्रमुख शरद पवार और अन्य के खिलाफ एमएससीबी बैंक घोटाले के संबंध में धन-शोधन का मुकदमा दर्ज किए जाने की निंदा कर रहे थे।

पुलिस ने बताया कि पार्टी के पांच कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। राकांपा की युवा इकाई के प्रांतीय प्रमुख मेहबूब शेख की अगुवाई में प्रदर्शनकारियों ने ईडी के दफ्तर के बाहर सत्ताधारी दल भाजपा और सरकार के खिलाफ नारे लगाए। शेख ने दावा किया कि प्रदर्शन कर रहे पार्टी के सदस्यों पर पुलिस ने लाठी चलाई और बाद में उन्हें हिरासत में लिया।

उन्होंने कहा, ‘‘पवार की रैलियों में भारी समर्थन देखकर ईडी ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। चुनाव से पहले विपक्षी नेताओं की आवाज दबाने के लिए ईडी का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसलिए हमने इस कार्रवाई की निंदा करने के लिए ईडी के दफ्तर के सामने प्रदर्शन किया।’’ एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि राकांपा के पांच कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है और उन्हें माता रमाबाई आम्बेडकर मार्ग पुलिस स्टेशन ले जाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पाकिस्तान ने ड्रोन से पंजाब में गिराया हथियारों का जखीरा, AK-47 के अलावा चीन में बनीं पिस्टल भी मिलीं
2 राम विलास पासवान के बेटे चिराग संभालेंगे LJP की बिहार यूनिट, जल्द बनाए जा सकते हैं पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष
3 तीन तलाक पीड़ितों के साथ खड़ी है यूपी सरकार, सीएम योगी का ऐलान
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit