ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में लगाए गए थे पुलिसकर्मी, महिला के अंतिम संस्कार में हुई 4 घंटे की देर

गुजरात के एक अस्पताल में भर्ती महिला की मौत के बाद शाम आठ बजे उनकी लाश कासारवाडी (पुणे) लाई गई थी।

Author December 18, 2018 5:52 PM
पुणे के वाईसीएम अस्पताल के बाहर रविवार सुबह खड़े मृतकों के परिजन। (एक्सप्रेस फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के चलते महाराष्ट्र के पुणे शहर में एक महिला के अंतिम संस्कार में रविवार (16 दिसंबर) को लगभग चार घंटे की देरी हो गई। पोस्टमार्टम के लिए लाश का पंचनामा जरूरी था, पर वाईसीएम अस्पताल में इस काम के लिए एक भी पुलिसकर्मी नहीं था। पुलिस वालों को उस दौरान मंगलवार (18 दिसंबर) को पीएम के दौरे के मद्देनजर सुरक्षा ड्यूटी पर तैनात किया गया था। कासारवाडी निवासी मृतका की पहचान बी.चौधरी (47) के रूप में हुई है, जिनका गुजरात के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। सुबह करीब आठ बजे उनकी मौत हो गई, जबकि शाम करीब आठ बजे पति व परिजन लाश कासारवाडी (पुणे) लेकर आए। थोड़ी देर बाद लाश पोस्टमार्टम और अंतिम संस्कार की अनुमति के लिए वाईसीएम अस्पताल लाई गई थी।

सुबह आठ से दोपहर 12 बजे तक कोई भी पुलिसकर्मी वहां मौजूद नहीं था, जबकि परिजन इधर-उधर मदद के लिए परेशान होकर दौड़ते-भागते रहे। अस्पताल पहुंचे स्थानीय कल्पेश पगारिया ने बताया, “अस्पताल के कर्मचारियों ने अपने हाथ खड़े कर लिए थे। वे बोले थे- जब तक पुलिस पंचनामा नहीं करती, तब तक हम कुछ नहीं कर सकते हैं।” वहीं, एक अन्य स्थानीय जयंत करिया बोले, “परिजन महिला के गुजरने से सदमे में थे। ऊपर से अंतिम संस्कार कराने को लेकर चार घंटों से अधिक की देरी हुई। अस्पताल में सुबह से ही महिला के रिश्तेदार और परिजन मौजूद थे।”

उधर, एसिस्टेंट पुलिस कमिश्नर सतीश पाटिल ने बताया- उन्होंने मामले की जानकारी पर फौरन पुलिसकर्मी को अस्पताल भेजा था। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, “वाईसीएम अस्पताल में तैनात स्टाफ को पीएम की सुरक्षा संबंधी ड्यूटी के लिए तैनात किया गया था।” पंचनामा रिपोर्ट देने वाले पुलिस कॉन्सटेबल ने कहा कि उसे तत्काल अस्पताल पहुंचने को कहा गया था।

डॉक्टरों का इस बारे में कहना है कि पोस्टमार्टम में तकरीबन तीन घंटे का समय लगा था। वाईसीएम अस्पताल के हाल में नियुक्त हुए प्रमुख पद्माकर पंडित ने बताया कि अगर मृतक की उम्र 50 साल से कम होती है, तब हमें तय नियमों-मानकों के आधार पर पोस्टमार्टम करना होता है।” हालांकि, परिजन ने बताया कि अस्पताल ने उन लोगों को लाश सौंपने में जरा भी देरी नहीं की थी। गौरतलब है कि पीएम ने मंगलवार को पहले कल्याण में दो मेट्रो कॉरिडोर और फिर पुणे में मेट्रो के तीसरे फेज की आधारशिला रखी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App