ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र में 10 हजार पुलिस वालों की होगी भर्ती, पहली बार 1400 महिलाओं की रहेगी महिला बटालियन- उद्धव सरकार का निर्णय

सरकार ने इसी के साथ फैसला किया है कि सूबे में पहली बार 1400 महिलाओं वाली बटालियन भी होगी। यह महिला बटालियन नागपुर के कटोल में होगी।

Maharashtra Police, Mumbai, Nagpurमुंबई में गणतंत्र दिवस की परेड के लिए रिहर्सल करते महाराष्ट्र पुलिस के जवानों के साथ अन्य। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः गणेश शिरसेकर)

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी (शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन वाली) सरकार ने सूबे के लिए 10 हजार पुलिस कर्मचारियों की भर्ती करने का निर्णय लिया है। सरकार ने इसी के साथ फैसला किया है कि सूबे में पहली बार 1400 महिलाओं वाली बटालियन भी होगी। यह महिला बटालियन नागपुर के कटोल में होगी। मंगलवार को ये बातें सूबे के डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहीं।

सरकार के आधिकारिक बयान के अनुसार, यह फैसला मंत्रालय में एनसीपी चीफ शरद पवार की अध्यक्षता वाली एक बैठक के दौरान लिया गया। सूबे के गृह मंत्री अनिल देशमुख और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस दौरान वहां मौजूद थे।

पवार के हवाले से बयान में कहा गया, “पुलिस सिपाही श्रेणी में 10 हजार जवानों को भर्ती करने का फैसला लिया गया है, ताकि राज्य की कानून और न्याय व्यवस्था मजबूत हो और फोर्स पर काम का दबाव भी न आए।”

उनके मुताबिक, इस फैसले से शहरी और ग्रामीण, दोनों ही इलाकों के युवाओं को मदद मिलेगी, क्योंकि वे पुलिस बल में सेवा का अवसर पाएंगे। एनसीपी चीफ ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि वे एक साल के भीतर इस भर्ती प्रक्रिया को पूरा करा लें और कोरोना संकट के मद्देनजर इसमें किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आनी चाहिए।

इतना ही नहीं, पवार ने अफसरों से राज्य की कैबिनेट में मंजूरी के लिए एक प्रस्ताव आगे बढ़ाने के लिए भी कहा। बयान में डिप्टी सीएम के हवाले से कहा गया- 1,384 से अधिक पोस्ट महिला बटालियन में बनेंगी और यह भर्ती प्रक्रिया तीन चरणों में संपन्न होगी। हर चरण में 461 पोस्ट पर भर्तियां की जाएंगी।

बता दें कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामलों में 5134 की बढ़ोतरी हुई है। कुल संक्रमितों की संख्या दो लाख 17 हजार 121 हुई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, मृतकों की संख्या में 224 की बढ़ोतरी होने से मरने वालों की कुल संख्या 9,250 हो गई है।

इसी बीच, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर तंज कसते हुए राज्य भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने मंगलवार को कहा कि राज्य को घर से नहीं चलाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि नेता को छत्रपति शिवाजी महाराज की तरह लोगों को जमीन पर दिखाई देना चाहिए।

पुणे महानगर से विधायक पाटिल ने कहा कि यह सही नहीं लगता कि राकांपा अध्यक्ष कोविड-19 महामारी के दौरान अकसर ‘मातोश्री’ जाएं, जो ठाकरे का निजी आवास है। पाटिल ने संवाददाताओं से कहा कि हाल के समय में ठाकरे ने केवल पंढरपुर मंदिर की यात्रा की और मुंबई के कुछ कोविड-19 केंद्र गए।

Next Stories
1 UP: चित्रकूट में मेहनताने को मासूम तन के सौदे पर मजबूर, आरोपी ठेकेदार देते हैं धमकियां- मुंह खोला, तो पहाड़ से फेंक देंगे
2 Kanpur Encounter: विकास दुबे के मामले में 200 पुलिसकर्मी शक के घेरे में, अबतक 10 सस्पेंड
3 कोरोना काल में भागलपुर-शिवनारायणपुर रेलखंड पर बिजली से चली पहली ट्रेन, रेलवे ने कहा- 20 करोड़ रुपए से ज्यादा की होगी सालाना बचत
ये पढ़ा क्या?
X