ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र: एक लाख रुपए के प्याज हो गए चोरी, दिल्ली में सेब से भी महंगा हुआ प्याज तो सरकार ने उठाया यह कदम

महाराष्ट्र में नासिक के रहने वाले एक किसान के अज्ञात लोगों द्वारा एक लाख रुपए मूल्य के प्याज चुराए जाने का मामला सामने आया है। किसान राहुल बाजीराव पगार ने प्याज चोरी की शिकायत दी।

Author नासिक | September 24, 2019 2:51 PM
onion priceकिसान के गोदाम से एक लाख रुपए के प्याज चोरी फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

प्याज की आसमान छूती कीमतों के बीच महाराष्ट्र में नासिक के रहने वाले एक किसान ने शिकायत दी है कि अज्ञात लोगों ने उसके गोदाम से एक लाख रुपए मूल्य के प्याज चुरा लिए हैं। पुलिस निरीक्षक प्रमोद वाघ ने मंगलवार ( 24 सितंबर) को बताया कि प्याज की उपज लेने वाले किसान राहुल बाजीराव पगार ने सोमवार (23 सितंबर) को प्याज चोरी की शिकायत दी। वहीं दिल्ली सरकार ने लोगों पर से प्याज की कीमत के बोझ को कम करने के लिए उन्हें सस्ती दरों पर बेचने का फैसला किया है।

गोदाम में रखे थे 25 टन प्याजः किसान ने कहा कि कलवन तालुका में अपने गोदाम में उसने गर्मी के स्टॉक के रूप में 25 टन प्याज को 117 प्लास्टिक क्रेटों में भरकर रखा था। लेकिन रविवार ( 21 सितंबर) शाम उसे पता चला कि एक लाख रुपए मूल्य का पूरा प्याज भंडार से गायब है। वाघ ने बताया कि चोरी की शिकायत दर्ज कर ली गई है और अब उसके प्याज को स्थानीय बाजार तथा पड़ोसी राज्य गुजरात में तलाशा जा रहा है।
National Hindi News, 23 September 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक
अधिक बारिश के कारण बढ़ी कीमतेंः नई दिल्ली समेत देश के अन्य हिस्सों में प्याज 70 से 80 रुपए किलो मिल रहा है। आसमान छूती प्याज की कीमतों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने लोगों को 22 रूपए प्रति किलो प्याज उपलब्ध कराने का फैसला लिया है। सरकार दुकान और मोबाइल वैन के जरिए इन प्याजों को बेचेगी। दरअसल प्याज की उपज लेने वाले प्रमुख राज्यों में सामान्य से अधिक बारिश के कारण प्याज की कीमतें इतनी बढ़ गई हैं। बता दें प्याज सेब से भी महंगा बिक रहा है। इस समय थोक मंडी में सेब की कीमत 30 से 40 रूपए के बीच है।


दीवाली तक कीमतों में बनी रह सकती है तेजीः दिल्ली की आजादपुर मंडी में आढ़तियों के मुताबिक प्याज की ये बढ़ी हुई कीमतें दीवाली तक बनी रह सकती है। वहीं आजादपुर मंडी के आलू-प्याज मर्चेट एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने कहा कि मंडी में औसतन रोजाना 1500 टन प्याज की मांग रहती है। लेकिन दक्षिण भारत के राज्यों सहित महाराष्ट्र में बारिश की वजह से प्याज की फसल को नुकसान पहुंचा है। इसी के चलते मंडी में मांग के हिसाब से प्याज की आपूर्ति नहीं हो पा रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Dantewada bypoll: न कोई सड़क न पुल, जान जोखिम में डाल 4,500 लोगों ने नदी पार कर ऐसे किया मतदान
2 Cyclone Storm Hikka मचा सकता है तबाही, आज रात पार करेगा ओमान तट; चलेंगी तेज हवाएं
3 राजस्थान: BSP की बैठक में चले लात-घूंसे, मायावती ने भंग कर दी पूरे प्रदेश की कार्यकारिणी
IPL 2020 LIVE
X