ताज़ा खबर
 

राज्यसभा में उठा नाबालिग कबड्डी खिलाड़ी से बलात्कार और हत्या का मुद्दा

महाराष्ट्र में 14 वर्षीय एक नाबालिग कबड्डी खिलाड़ी से बलात्कार और फिर नृशंसतापूर्वक उसकी हत्या किए जाने का मुद्दा आज राज्यसभा में उठा...

Author नई दिल्ली | July 19, 2016 4:47 PM
gangrape class 9 student ahmednagar,gangrape murder class 9 student ahmednagar maharashtra,minor gangraped accused arrest ahmednagar maharashtra,minor rape ahmednagar maharashtra,minor raped killed in ahmednagar,ahmednagar minor raped killed,Maharashtra

महाराष्ट्र में 14 वर्षीय एक नाबालिग कबड्डी खिलाड़ी से बलात्कार और फिर नृशंसतापूर्वक उसकी हत्या किए जाने का मुद्दा आज राज्यसभा में उठा और विभिन्न दलों के सदस्यों ने आरोपियों को कड़ी सजा देने तथा ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए कानून को कठोरता से लागू करने की मांग की।

कांग्रेस की रजनी पाटिल ने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि कबड्डी की खिलाड़ी 14 वर्षीय छात्रा दसवीं कक्षा में पढ़ती थी और शाम में साइकिल से अपने घर जा रही थी जब उसके यह वारदात हुई।
उन्होंने कहा ‘‘एक ओर तो सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करती है वहीं दूसरी ओर इस तरह की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रहीं। ’’
पाटिल ने कहा कि देश का कोई भी हिस्सा इस तरह की घटनाओं से अछूता नहीं बचा है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों एक अभिनेता के बलात्कार संबंधी बयान पर बहुत बवाल मचा और महिला आयोग ने अभिनेता को नोटिस जारी कर दिया। लेकिन महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में हुई इस घटना पर महिला आयोग अब तक मौन है।

इस वारदात को जातीय रंग नहीं देने का अनुरोध करते हुए पाटिल ने कहा कि निर्भया मामले के समय कानून बनाया गया लेकिन लोगों में कानून का भय नहीं है। उन्होंने आरोपियों को कड़ी सजा देने तथा ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए कानून को कठोरता से लागू करने की मांग की।

इसी पार्टी के हुसैन दलवई ने कहा कि ऐसी घटनाएं लगातार हो रही हैं और सरकार को सदन की एक समिति बना कर मामले की जांच करनी चाहिए।

Next Stories
1 Parliament Session: योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में सांसदों ने की वेतन, भत्ते बढ़ाने की मांग
2 kashmir violence: घाटी में अखबारों पर कार्रवाई को लेकर नायडू ने की महबूबा से बातचीत
3 महात्मा गांधी की हत्या के लिए RSS को जिम्मेदार ठहरा रहे राहुल पर सख्त हुआ सुप्रीम कोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X