ताज़ा खबर
 

शिवसेना नेताओं की जघन्य हत्या के बाद तनाव, एनसीपी विधायक गिरफ्तार, बीजेपी एमएलए पर भी एफआईआर

शनिवार शाम छह बजकर 15 मिनट पर जिला उपाध्यक्ष संजय केटकर और एक अन्य नेता वसंत थुबे मोटरसाइकिल से साथ में जा रहे थे, तभी उन पर अचानक हमला हो गया था। आरोपियों ने दोनों नेताओं पर पहले गोलियां चलाई थीं। फिर पास जाकर धारदार हथियार से हमला बोला था। दोनों नेताओं ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था।

प्रतीकात्मक तस्वीर

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिला स्थित केडगांव में सरेआम दो शिवसेना नेताओं की जघन्य हत्या कर दी गई। रविवार (आठ अप्रैल) को इसी के आरोप में नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के विधायक संग्राम जगताप को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इसके अलावा इस संबंध 11 अन्य लोगों को पकड़ा है। शिवसेना नेताओं की हत्या के विरोध में रविवार को अहमदनगर में तनाव की स्थिति रही, जिसके चलते वहां पर बंद बुलाया गया। ऐसे में, पुलिस ने संग्राम के पिता और एनसीपी के एमएलसी अरुण जगताप और उनके ससुर व भाजपा विधायक शिवाजी कार्डिले सहित अन्य 30 लोगों पर मामला दर्ज किया है।

शनिवार (सात अप्रैल) शाम छह बजकर 15 मिनट पर जिला उपाध्यक्ष संजय केटकर और एक अन्य नेता वसंत थुबे मोटरसाइकिल से साथ में जा रहे थे, तभी उन पर अचानक हमला हो गया था। आरोपियों ने दोनों नेताओं पर पहले गोलियां चलाई थी। फिर पास जाकर धारदार हथियार से हमला किया था। दोनों नेताओं ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था।

दोनों नेताओं की हत्या की खबर जैसे ही शिवसैनिकों को मिली, वे तोड़फोड़ करने लगे। शनिवार को हत्या के मामले में संदीप गुंजल ने सरेंडर किया और घटना में इस्तेमाल किए गए हथियार पुलिस के हवाले किए। पुलिस के सामने उसने कबूल किया कि रंजिश में उसने दोनों नेताओं की हत्या को अंजाम दिया।

वहीं, पुलिस ने देर रात एनसीपी विधायक संग्राम जगताप को हत्या की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया। संजय केटकर के बेटे के अनुसार, एनसीपी के दो विधायकों और बीजेपी के एक विधायक ने उनके पिता को हाल में हुए निकाय उपचुनाव में शिवसेना के प्रत्याशी की सहायता को लेकर गंभीर नतीजा भुगतने की चेतावनी दी थी।

पुलिस के मुताबिक, दोहरे हत्याकांड में 82 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 26 को इसमें हिरासत में लिया गया है, जबकि अन्य फरार हैं। फरारी काट रहे आरोपियों में दो निर्वाचित विधायक हैं। एनसीपी विधायक अरुण जगताप और बीजेपी विधायक शिवाजी कार्डिले फरार हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App