ताज़ा खबर
 

Maharashtra, Kerala flood updates:महाराष्ट्र में बाढ़ग्रस्त इलाकों से चार लाख लोगों को सुरक्षित निकाला गया, दक्षिणी, पश्चिमी राज्यों में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 114 हुई

महाराष्ट्र में बाढ़ग्रस्त इलाकों से अब तक चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं भारी वर्षा, बाढ़ और भूस्खलन से जूझ रहे केरल और कर्नाटक में शनिवार को भी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

Author मुंबई | Aug 11, 2019 09:19 am
कोच्चि में अलुवा के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का एक हवाई दृश्य फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

महाराष्ट्र में बाढ़ग्रस्त इलाकों से अब तक चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है और सांगली तथा कोल्हापुर जिलों में बाढ़ का पानी कम होना शुरू हो गया है। जिन लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है उनमें कोल्हापुर और सांगली के 3.78 लाख लोग भी शामिल हैं जहां शनिवार को हालात में थोड़े सुधार के संकेत मिले हैं क्योंकि वहां बाढ़ का पानी अब धीरे-धीरे कम होना शुरू हो गया है।
राज्य सरकार की ओर से जारी बयान के अनुसार समूचे राज्य में बाढ़ प्रभावित इलाकों से 4,24,333 लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। बाढ़ से राज्य में 69 ‘तालुकाओं’ में 761 गांव प्रभावित हुए हैं।

बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत मुहैया कराने के लिये कोल्हापुर में 187 राहत शिविर जबकि सांगली में ऐसे 117 शिविर स्थापित किये गये हैं।
सतारा में बाढ़ से 118 गांव प्रभावित हैं और वहां से 9,221 लोगों को निकाला गया है जबकि पुणे जिले में 108 गांवों से 13,500 लोगों को बचाया गया है। नासिक में पांच गांवों से 3,894 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

वहीं भारी वर्षा, बाढ़ और भूस्खलन से जूझ रहे केरल और कर्नाटक में शनिवार को भी स्थिति गंभीर बनी रही। दोनों राज्यों में पिछले दो-तीन दिनों में 66 लोगों की मौत हो गयी जबकि महाराष्ट्र में चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया एवं गुजरात में बारिश से जुड़ी घटनाओं में 19 लोगों की जान चली गयी। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि आठ अगस्त से राज्य में वर्षाजनित घटनाओं में 42 लोगों की जान चली गयी जबकि आठ जिलों में 80 भूस्खलन हुए हैं।

बाढ़ से सबसे बुरी तरह प्रभावित जिलों में से एक वायनाड के कलपेट्टा से 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बाणासुरसागर बांध से अतिरिक्त पानी को छोड़ने के लिए बांध के चार फाटकों में से एक को खोल दिया गया है। काबिनी नदी के तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों को सचेत रहने के लिये कहा गया है।

 

Live Blog

Highlights

    07:10 (IST)11 Aug 2019
    आठ जिलों में रेड अलर्ट

    केरल राज्य के आठ जिलों एर्णाकुलम, इडुक्की, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड में ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है। कावलप्परा में बचाव अभियान जारी रहने के बीच शनिवार को वहां फिर से भूस्खलन हुआ जिसके चलते तलाश अभियान को रोक दिया गया है।

    05:58 (IST)11 Aug 2019
    नासिक में 3,984 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया

    बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत मुहैया कराने के लिये कोल्हापुर में 187 राहत शिविर जबकि सांगली में ऐसे 117 शिविर स्थापित किए गए हैं। सतारा में बाढ़ से 118 गांव प्रभावित हैं और वहां से 9,221 लोगों को निकाला गया है जबकि पुणे जिले में 108 गांवों से 13,500 लोगों को बचाया गया है। नासिक में पांच गांवों से 3,894 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

    05:22 (IST)11 Aug 2019
    तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों को किया गया सचेत

    बाढ़ से सबसे बुरी तरह प्रभावित जिलों में से एक वायनाड के कलपेट्टा से 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बाणासुरसागर बांध से अतिरिक्त पानी को छोड़ने के लिए बांध के चार फाटकों में से एक को खोल दिया गया है। वहीं काबिनी नदी के तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों को सचेत रहने के लिए कहा गया है।

    03:29 (IST)11 Aug 2019
    बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए लगाए गए शिविर

    बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत मुहैया कराने के लिये कोल्हापुर में 187 राहत शिविर जबकि सांगली में ऐसे 117 शिविर स्थापित किए गए हैं।

    02:44 (IST)11 Aug 2019
    केंद्र ने बाढ़ प्रभावित केरल को ‘उदार’ समर्थन देने का आश्वासन दिया : राज्यपाल

    केंद्र ने केरल के राज्यपाल पी सदाशिवम को आश्वासन दिया है कि वह बाढ़ प्रभावित राज्य को ‘‘उदार समर्थन’’ उपलब्ध कराने पर विचार करेगा जबकि केंद्रीय मंत्री वी.मुरलीधन ने शनिवार को कहा कि 52.57 करोड़ रुपये की केंद्रीय मदद राज्य को मुहैया कराई जाएगी।

    02:07 (IST)11 Aug 2019
    कर्नाटक और तमिलनाडु में बारिश का प्रकोप जारी

    कर्नाटक और तमिलनाडु में लगातार बारिश के बीच मॉनसून का प्रकोप जारी है जबकि तमिलनाडु के नीलगिरी जिले का अवलांची बारिश से बुरी तरह प्रभावित हुआ है, जहां फंसे हुए लोगों को निकालने के लिये वायुसेना की मदद ली जा रही है।

    01:24 (IST)11 Aug 2019
    ठाणे में 25 गांव बाढ़ की चपेट में

    ठाणे में 25 गांव बाढ़ की चपेट में हैं जहां से 13,104 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। पास के पालघर जिले में 58 गांवों से 2,000 लोगों को बचाया गया है।

    00:13 (IST)11 Aug 2019
    कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका

    केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि आठ अगस्त से राज्य में वर्षाजनित घटनाओं में 57 लोगों की जान चली गई जबकि आठ जिलों में 80 भूस्खलन हुए हैं। मलप्पुरम के कावलप्परा और वायनाड के मेप्पाडी केपुथुमला में बड़े भूस्खलनों के बाद कई लोगों के अब भी मलबे में दबे होने की आशंका है।

    Next Stories
    1 Gujarat Floods & Rians: मोरबी में भीषण बारिश के बाद भरभराकर गिरी दीवार, 8 लोगों की दर्दनाक मौत
    2 बिहार: 2020 चुनाव से पहले महागठबंधन में फूट, मांझी ने किया अकेले लड़ने का ऐलान, NDA में जाने की चर्चा
    3 गोशाला में 98 गायों की अचानक मौत, आनन-फानन में एक्टिव हुआ प्रशासन, उठाया ये कदम