ताज़ा खबर
 

हिंदू देवी-देवताओं के नाम पर शराब की दुकानों पर लगाम कसने की तैयारी में महाराष्ट्र सरकार

स्टेट लेबर डिपार्टमेंट के अधिकारियों का कहना है कि देवी-देवता या ऐतिहासिक व्यक्ति या किसी किले के नाम पर आधारित शराब की दुकान पर बैन लगाने के लिए जल्द ही आबकारी विभाग की ओर से नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा।

Author Updated: November 21, 2017 9:23 AM
हिंदू देवी-देवताओं के नाम पर शराब की दुकानों पर लगाम कसने की तैयारी में महाराष्ट्र सरकार (प्रतीकात्मक फोटो)

विश्वास वाघमोडे

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में देवी-देवता या ऐतिहासिक व्यक्ति या किसी किले के नाम के आधार पर शराब की दुकान का नाम रखने पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है। स्टेट लेबर डिपार्टमेंट के अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में जल्द ही आबकारी विभाग की ओर से नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक लेबर डिपार्टमेंट के अधिकारियों का कहना है कि इस मुद्दे को मार्च में विधान परिषद के सामने उठाया गया था और इसके लिए एक कानूनी प्रावधान बनाने की मांग भी की गई थी। इस मांग के बाद एक्साइज मिनिस्टर चंद्रशेखर बावनकुले ने इस मामले में एक्साइज और लेबर डिपार्टमेंट के अधिकारियों की मीटिंग बुलाई थी। जिसके बाद बावनकुले ने इस मामले में फैसला लेने के लिए विधान परिषद के सदस्यों, लेबर और एक्साइज डिपार्टमेंट के अधिकारियों को श्रम मंत्री की अध्यक्षता में एक समिति का गठन करने का आदेश दिया था।

अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में पिछले हफ्ते एक बैठक का आयोजन भी किया गया था। श्रम मंत्री संभाजी पाटिल ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘इस मामले में काफी चर्चा करने के बाद देवी-देवता, ऐतिहासिक व्यक्तियों और किलों के नाम के आधार पर शराब की दुकान का नाम रखने पर बैन लगाने का फैसला किया गया है। इस मामले में लेबर डिपार्टमेंट नियमों का एक प्रावधान तैयार कर रहा है।’ इसके साथ ही पाटिल ने आगे कहा, ‘जैसे की राज्य के एक्साइज डिपार्टमेंट ने वाइन शॉप, बियर बार को लाइसेंस जारी किया है वैसे ही डिपार्टमेंट अब एक नोटिफिकेशन जारी करते हुए देवी-देवता के नाम पर शराब की दुकान का नाम रखने पर भी बैन लगाएगा।’

लेबर डिपार्टमेंट के अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल तो शॉप एंड एस्टैब्लिशमेंट एक्ट में देवी-देवता, ऐतिहासिक व्यक्तियों और किलों के नाम पर शराब की दुकान का नाम ना रखने को लेकर कोई भी प्रावधान नहीं है। एक अधिकारी का कहना है, ‘कुछ दिनों पहले राज्य सरकार ने एक शॉप एंड एस्टैब्लिशमेंट एक्ट में संशोधन करते हुए शराब की दुकानों को 24 घंटे तक खुला रखने की मंजूरी दे दी थी। हालांकि इस संशोधन से जुड़े नियमों पर फिलहाल तो काम किया जा रहा है और हमने देवी देवता के नाम के आधार पर शराब की दुकानों के नामकरण करने पर बैन लगाने का प्रावधान भी इस एक्ट में जोड़ दिया है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 गुजरात: 61% मुस्लिमों वाली इस सीट पर बीजेपी का कब्जा, अजान को ‘आशीर्वाद’ मानते हैं पार्टी प्रत्याशी
2 अलवर: मृतक उमर के 2 साथी पशु तस्करी में अरेस्ट, लोगों का आरोप- हत्यारों का साथ दे रही पुलिस