ताज़ा खबर
 

Maharashtra Lockdown Guidelines & Rules: महाराष्ट्र में बिना और रियायत के लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाया गया

Maharashtra Lockdown Guidelines & Rules Latest News Update: कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी (शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन) सरकार ने 31 जुलाई तक के लिए राज्य में लॉकडाउन बढ़ा दिया है।

Maharashtra Lockdown Extension, Maharashtra, Coronavirus, COVID-19मुंबई में कोरोना संकट को ध्यान में रखते हुए ग्रांट रोड मार्केट में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करानेके लिए पेंट किए गए घेरों में खड़े लोग। (फाइल फोटोः पीटीआई)

Maharashtra Lockdown: कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी (शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन) सरकार ने 31 जुलाई तक के लिए राज्य में लॉकडाउन बढ़ा दिया है।

मुख्य सचिव अजॉय मेहता की ओर से सोमवार को जारी एक आदेश में कहा गया है कि मास्क लगाने, शारीरिक दूरी, सभाओं पर पाबंदी और अन्य नियमों का पालन जारी रहना चाहिये। सरकार ने सलाह दी है कि जहां तक संभव हो सके घर से ही काम किया जाए।

मेहता के आदेश में कहा गया है कि निजी कार्यालय 10 प्रतिशत कर्मचारियों या 10 लोगों के साथ काम कर सकते हैं। महाराष्ट्र में रविवार को एक दिन में कोविड-19 के सबसे अधिक 5,493 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 1,64,626 हो गई थी। राज्य में अब तक कुल 7,429 लोगों की मौत हो चुकी है।

Coronavirus India LIVE Updates

लॉकडाउन की वजह से महाराष्ट्र से चीनी निर्यात प्रभावितः सूबे से चीनी निर्यात पर लॉकडाउन का प्रभाव रहा है। इस साल जनवरी से जून की अवधि में राज्य से 60 लाख टन निर्यात लक्ष्य के मुकाबले केवल 36 लाख टन चीनी का ही निर्यात किया गया। महाराष्ट्र राज्य सहकारी चीनी कारखाना महासंघ के चेयरमैन जयप्रकाश दांडेगांवकर ने कहा कि कोविड-19 महामारी और उसके बाद लगाये गये लॉकडाउन के कारण निर्यात की प्रक्रिया प्रभावित हुई है। उन्होंने बताया कि नवंबर 2019 से लेकर जून 2020 तक राज्य में 570 लाख टन गन्ने की पेराई की गई। इससे अब तक 63 लाख टन चीनी का उत्पादन किया गया।

दांडेगांवकर ने कहा, ‘‘36 लाख टन चीनी का निर्यात कर लिया गया है। और छह लाख टन के निर्यात के लिये सौदे हुये हैं और इसके लिये चीनी गोदामों से जारी की जा रही है।’’ उन्होंने बताया कि अब तक ज्यादातर चीनी का इंडोनेशिया और ईरान को निर्यात किया गया। एक साल पहले जनवरी से जून अवधि में राज्य में 952 लाख टन गन्ने की पेराई की गई थी और 107 लाख टन चीनी उत्पादन हुआ था। गन्ने की पेराई आमतौर पर हर साल नवंबर में शुरू होकर मार्च अंत तक चलती है।

उद्धव ने मरीजों को विश्व की सबसे बड़ी प्लाज्मा परियोजना की शुरुआत कीः सीएम ठाकरे ने सोमवार को कोविड-19 के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए ‘प्लाज्मा थैरेपी- सह-परीक्षण’ परियोजना की शुरूआत की। राज्य के चिकित्सा शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने इसे दुनिया में अपनी तरह की सबसे बड़ी पहल बताया। इस पद्धति में ऐसे लोगों के रक्त से प्लाज्मा प्राप्त किया जाता जो इस संक्रमण से उबर चुके हैं। इसके बाद वह प्लाज्मा इलाज करा रहे रोगियों को दिया जाता है।

अधिकारी ने कहा कि इस परियोजना का नाम ‘प्लेटिना’ रखा गया है। यह दुनिया में इस तरह की सबसे बड़ी परियोजना है। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के तहत हमारा इरादा कोरोना वायरस के 500 गंभीर मरीजों का जीवन बचाना है। यह परीक्षण 21 मेडिकल कॉलेजों में कया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी गंभीर रोगियों को 200 मिली प्लाज्मा की दो खुराक मुफ्त दी जाएगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar, Jharkhand Coronavirus Highlights: रोज 15 हजार करें कोरोना जांच, सीएम नीतीश का स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश
2 तेलंगानाः बंदर को पेड़ लटकाकर ली जान, घटना का वीडियो सामने आने पर तीन लोग गिरफ्तार
3 ‘मुंबई में भीड़ कम करने के लिए उत्तर प्रदेश, बिहार में रोजगार पैदा करें’, शिवसेना ने केंद्रीय मंत्री गडकरी पर साधा निशाना
IPL 2020 LIVE
X