Maharashtra: Five Sandalwood Trees Stolen from Governor Pune Residence - गवर्नर के बंगले से काट ले गए पांच पेड़, जांच में जुटी पुलिस - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गवर्नर के बंगले से काट ले गए पांच पेड़, जांच में जुटी पुलिस

वारदात को अंजाम देने के लिए बदमाश गवर्नर चेन्नामनेनी विद्यासागर राव के पुणे स्थित राज भवन में घुसे थे, जहां उन्होंने पहले पांच चंदन के पेट काटे। फिर वे उन्हें चोरी कर फरार हो गए।

सी.विद्यासागर राव के पुणे स्थित आवास पर सोमवार को चोरी हुई थी। (फोटोः फेसबुक/एएनआई)

महाराष्ट्र में गवर्नर के बंगले में चोरी का मामला सामने आया है। बदमाश उनके यहां से पेड़ काटकर चुरा ले गए। यह घटना सोमवार (30 अप्रैल) की है। वारदात को अंजाम देने के लिए बदमाश पुणे स्थित राज भवन में घुसे थे, जहां उन्होंने पहले पांच चंदन के पेट काटे। फिर वे उन्हें चोरी कर फरार हो गए। गवर्नर चेन्नामनेनी विद्यासागर राव की ओर से इस संबंध में पुलिस को शिकायत दी गई है। मामले की जानकारी पर पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू कर दी है।

गवर्नर के घर हुई इस चोरी को उनके यहां सुरक्षा व्यवस्था में बड़ी चूक के तौर पर देखा जा रहा है। हुआ यूं कि गवर्नर के आवास पर बगीचे में माली आया हुआ था, जिसे चंदन के पेट कटे मिले। माली ने फौरन इस बारे में सुरक्षाकर्मियों को जानकारी दी। चंदन के पेड़ चोरी होने की बात मालूम पड़ने के बाद अधिकारियों में खलबली मच गई थी। चूंकि राज भवन के पास में ही पुलिस थाना भी मौजूद है।

आपको बता दें कि यह पहला मामला नहीं है जब यहां पर चोरी हुई हो। राज भवन में दो साल पूर्व भी एक ऐसी ही वारदात को अंजाम दिया गया था। सुरक्षा और निगरानी के लिहाज से बाद में सीसीटीवी कैमरे इंस्टॉल किए गए थे। लेकिन फिर भी यहां से बदमाश चंदन के पेड़ काट कर भाग निकले। पुराने मामले में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत मुकदमे दर्ज किए गए थे। हालांकि, उसमें आरोपियों की पहचान नहीं की जा सकी थी।

वहीं, अप्रैल में उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर स्थित नोएडा में गुजरात के गवर्नर के घर चोरी करने वाला गैंग धरा गया था। पुलिस ने इस मामले में ओ.पी कोहली की सेक्टर-50 स्थित कोठी में दिनदहाड़े हुई चोरी के मामले में महिला समेत चार बदमाशों को गिरफ्तार किया था। ये सभी आरोपी मुठभेड़ के दौरान पकड़े गए थे। आरोपियों से पुलिस को हथियार, सोना और कैश भी बरामद हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App