ताज़ा खबर
 

शरद पवार ने जिसे टिकट दिया उसने चुनाव से पहले ही छोड़ी NCP, मुंडे सिस्टर्स की मौजूदगी में थामा बीजेपी का दामन

Maharashtra Assembly Elections 2019: नमिता की सास विमल मूंदड़ा एनसीपी के कोटे से राज्य मंत्री रह चुकी हैं। विधानसभा चुनाव 2014 में नमिता बीजेपी की संगीता थोंबरे से हार गई थीं। उस वक्त भी उन्होंने कैज से ही चुनाव लड़ा था।

एनसीपी चीफ शरद पवार। (फाइल फोटो)

Maharashtra Election 2019: महाराष्ट्र में चुनावी आगाज के साथ ही शुरू हुआ नेताओं की दलबदली का दौर जारी है। अब एनसीपी चीफ शरद पवार को बड़ा झटका लगा है। दरअसल बीड जिले की कैज विधानसभा सीट से शरद पवार ने जिसका नाम घोषित किया था, उसी ने टिकट मिलने के बावजूद एनसीपी छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया। 21 अक्टूबर को राज्य में मतदान होना है, ऐसे में एनसीपी को आनन-फानन में नए सिरे से कैंडिडेट ढूंढना होगा।

पंकजा-प्रीतम की मौजूदगी में जॉइन की बीजेपीः प्राप्त जानकारी के मुताबिक एनसीपी से टिकट पाने वाली नमिता मूंदड़ा ने बीजेपी के दिग्गज नेता रहे दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की बेटी और फडणवीस सरकार में मंत्री पंकजा मुंडे की मौजूदगी में बीजेपी जॉइन कर ली, इस दौरान लोकसभा सांसद प्रीतम मुंडे भी मौजूद थीं। मूंदड़ा ने एनसीपी (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी) से इस्तीफा दे दिया है।

पिछली बार विधानसभा चुनाव हार गई थीं नमिताः बता दें कि नमिता की सास विमल मूंदड़ा एनसीपी के कोटे से राज्य मंत्री रह चुकी हैं। विधानसभा चुनाव 2014 में नमिता बीजेपी की संगीता थोंबरे से हार गई थीं। उस वक्त भी उन्होंने कैज से ही चुनाव लड़ा था। इस बार टिकट मिलने के बावजूद पार्टी बदलने से एनसीपी के समर्थक हैरान हैं।

National Hindi News, 30 September 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

बीड पर बीजेपी का कब्जाः महाराष्ट्र की सभी 288 लोकसभा सीटों पर एक ही चरण में चुनाव होगा। यहां 21 अक्टूबर को मतदान होगा। फिलहाल राज्य में बीजेपी-शिवसेना की गठबंधन सरकार है। लोकसभा चुनाव में भी बीड सीट पर लंबे समय से बीजेपी का कब्जा है। 2014 में यहां से चुनाव जीतकर गोपीनाथ मुंडे मोदी सरकार में मंत्री बने थे, लेकिन एक सड़क दुर्घटना में उनकी मौत हो गई। इसके बाद हुए उपचुनाव में उनकी बेटी प्रीतम ने रिकॉर्ड मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी।

Next Stories
1 अहमदाबाद में 5 कुत्तों को तेजाब डालकर जला डाला, एक पालतू डॉगी को भी बनाया शिकार
2 कोलकाता में 50 किलो सोने और 110 किलो चांदी से सजाईं देवी की मूर्तियां, 20 करोड़ से ज्यादा खर्च होने का अनुमान
3 कुमारस्वामी ने संत निर्मलानंद के फोन टैपिंग मामले में हाथ होने से किया इनकार, बोले- आरोप से पहुंचा ‘असहनीय दर्द’
यह पढ़ा क्या?
X