scorecardresearch

महाराष्ट्र संकट पर कांग्रेस नेता बोले- BJP ने जिस पार्टी से किया गठबंधन, उसे खत्म कर दिया, नीतीश की पार्टी को लेकर भी किया बड़ा दावा

महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी की सरकार गिरने के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्विटर पर पोस्ट शेयर कर कहा कि शिवसेना को अपनों ने ही खंजर घोंपा है।

maharashtra| eknath shinde| BJP
महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस नई सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में (Photo Source- ANI)

महाराष्ट्र में हुए सियासी उलटफेर के बीच एकनाथ शिंदे ने गुरुवार (30 जून) को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की। वहीं भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस बारे में बात करते हुए कांग्रेस नेता अभय दुबे ने कहा कि BJP ने आज तक जिन राजनीतिक दलों से गठबंधन किया उसको खत्म कर दिया।

न्यूज़ 24 से बात करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि BJP को हिंदुत्व से सरोकार नहीं, वो बस सत्ता को भोगना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “बीजेपी के सभी प्रवक्ता कह रहे हैं कि कांग्रेस और एनसीपी के गठबंधन को नकार कर महाराष्ट्र चाहता था कि सरकार बने। अरे भाई सेवा की भावना से इतने ओतप्रोत थे आप कि मोदी जी जिसे नेशनलिस्ट करप्ट पार्टी बोलते थे उसके साथ ही देवेंद्र फडणवीस ने सत्ता का सुख भोगने के लिए सीएम की शपथ ले ली थी।”

बीजेपी ने महाराष्ट्र के साथ धोखा किया: अभय दुबे ने आगे कहा, “वहां बात नहीं बनी तो सत्ता की भूख मिटाने के लिए जिस शिवसेना पर परिवारवाद का आरोप लगाया शिंदे भी तो खुद को उसी बालासाहेब ठाकरे के अनुयायी बोल रहे हैं।” उन्होंने कहा कि बीजेपी ने महाराष्ट्र के साथ धोखा किया, बालसाहेब की विरासत के साथ भाजपा ने धोखा किया और आज खुद के लिए बड़ा आत्मघाती कदम उठा लिया।”

जिससे गठबंधन उसे खत्म कर दिया: कांग्रेस नेता ने आगे कहा, “बीजेपी ने जिस-जिस प्रांत में जिस-जिस दल के साथ गठबंधन किया है उसे खत्म कर दिया। बिहार में जेडीयू खात्मे की कगार पर है, वो वहां तिलमिला रही है।” वहीं, दूसरी ओर एकनाथ शिंदे के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के बाद NCP नेता शरद पवार ने कहा, “मैं एकनाथ शिंदे को उनकी नई जिम्मेदारी के लिए बधाई देता हूं। उन्होंने इतनी बड़ी संख्या में विधायकों को गुवाहाटी ले जाने की ताकत दिखाई। उन्होंने लोगों को शिवसेना छोड़ने के लिए प्रेरित किया। मुझे नहीं पता कि यह पहले हुआ था, लेकिन यह बिना तैयारी के नहीं हुआ।”

वहीं, दूसरी ओर शिंदे गुट के शिवसेना विधायक दीपक केसरकर ने कहा, “हिंदुत्व को मानने वाली दो पार्टियां जो अलग हो गई थी, आज फिर से साथ जुड़ गई हैं। इसमें हमारे 50 साथियों का योगदान महत्वपूर्ण है। वो चाहते थे कि शिंदे साहब को एक बार मुख्यमंत्री पद मिलना चाहिए भाजपा ने इस फैसले को स्वीकार किया।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X