महिला बन कर महाराष्‍ट्र पुलिस में भर्ती हुई थीं ललिता साल्‍वे, अब कराएंगी सेक्‍स चेंज सर्जरी

साल्वे जून 2010 में महिला कॉन्स्टेबल के तौर पर महाराष्ट्र पुलिस में भर्ती हुई थीं। साल 2017 में लिंग परिवर्तन कराने को लेकर उन्होंने एक महीने की छुट्टी भी मांगी थी। लेकिन उनकी दरख्वास्त को पुलिस मुख्यालय ने खारिज कर दिया था। महिला कॉन्स्टेबल ने इसके बाद बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

बीड पुलिस कॉन्स्टेबल ललिता चाहती हैं कि लोग उन्हें ललित साल्वे के नाम से जानें। (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र पुलिस में कॉन्स्टेबल ललिता साल्वे की राज्य सरकार ने सुन ली है। अब वह अपना लिंग परिवर्तन करा सकेंगी। जल्द ही वह इसके लिए सेक्स चेंज सर्जरी कराएंगी। बुधवार (18 अप्रैल) को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णनवीस ने उस फाइल को हरी झंडी दी है, जिसमें साल्वे ने अपना लिंग परिवर्तन कराने को लेकर सर्जरी कराने की अनुमति मांगी थी। महिला कॉन्स्टेबल ने इस संबंध में सीएम से मुलाकात भी की थी।

29 वर्षीय साल्वे यहां के बीड जिले में वीमेंस स्क्वॉड में कॉन्स्टेबल पद पर तैनात हैं। वह खुद को ललिता के बजाय ललित कहना पसंद करती हैं। ‘टीओआई’ की रिपोर्ट के अनुसार, साल्वे को काफी साल बाद मालूम पड़ा था कि उनके शरीर में अविकसित पुरुष अंग है, जिसके बाद उन्होंने लिंग परिवर्तन कराने के बारे में सोचा और फिर सरकार के पास उसके लिए आवेदन दिया।

वहीं, राज्य पुलिस मुख्यालय की ओर से महिला कॉन्स्टेबल पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने भर्ती के समय खुद से जुड़ी कुछ जानकारी छिपाई। राज्य का कानून और न्याय विभाग भी साल्वे के मामले को स्पेशल केस बता चुका है। विभाग की इस संबंध में राय थी कि साल्वे को आगे पुलिस में पुरुष कॉन्स्टेबल के तौर पर काम करने देना चाहिए। साल्वे जून 2010 में महिला कॉन्स्टेबल के तौर पर महाराष्ट्र पुलिस में भर्ती हुई थीं। साल 2017 में लिंग परिवर्तन कराने को लेकर उन्होंने एक महीने की छुट्टी भी मांगी थी। लेकिन उनकी दरख्वास्त को पुलिस मुख्यालय ने खारिज कर दिया था।

महिला कॉन्स्टेबल ने इसके बाद बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और याचिका दी कि उसे राज्य पुलिस में पुरुष कॉन्स्टेबल के रूप में काम करने दिया जाए। बाद में वह इस संबंध में महाराष्ट्र प्रशासनिक ट्रिब्यूनल भी पहुंचीं। याचिका में साल्वे ने बताया था कि कैसे वह जेंडर डायफोरिया से जूझीं, जिसमें वह अपनी पहचान को लेकर भ्रमित रहती थीं।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X