ताज़ा खबर
 

‘हिम्मत हो तो हमारी सरकार गिराओ’, उद्धव ठाकरे का खुला चैलेंज, बोले- हां तीन टांग पर है सरकार पर स्टेयरिंग मेरे हाथ में

शिवसेना के मुखपत्र सामना को दिए इंटरव्यू में महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे केंद्र सरकार पर निशाना साधा, साथ ही अपनी सरकार को मजबूत बताया।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | July 26, 2020 3:39 PM
Maharashtra, CM Uddhav Thackerayमहाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे। (एक्सप्रेस फोटो)

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विपक्षी पार्टियों को चुनौती देते हुए कहा है कि अगर किसी को मेरी सरकार गिरानी है, तो वो आज ही गिरा दे। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार का भविष्य सिर्फ मेरे हाथ में है, न कि विपक्ष के हाथ में। यह सब बातें उद्धव ने शिवसेना के मुखपत्र सामना में छपे साक्षात्कार में कहीं हैं। उन्होंने महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी गठबंधन को ‘गरीबों का रिक्शा’ करार देते हुए कहा कि सरकार तीन पहियों पर ही है। लेकिन इसका स्टेयरिंग उन्होंने अपने हाथों में होने का दावा किया। साथ ही राकांपा और कांग्रेस के साथ में पीछे बैठे होने की बात कही।

दरअसल, बीते काफी समय से कहा जा रहा है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार गिराने और राजस्थान में सियासी संकट खड़ा करने के बाद भाजपा की निगाहें महाराष्ट्र पर हैं। इसके अलावा बीते काफी समय से अलग-अलग मुद्दों पर महाविकास अघाड़ी की तीनों पार्टियों- शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के बीच मतभेद की खबरें भी सामने आती रही हैं। हालांकि, इसके बावजूद सीएम उद्धव ठाकरे के सरकार के मजबूत होने का दावा करते रहे हैं। ताजा इंटरव्यू में भी उन्होंने यही बात दोहराई।

इस इंटरव्यू में महाराष्ट्र सीएम ने बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर निशाना साधा और कहा कि अगर कभी उन्हें अपनी सरकार का उदाहरण देने के लिए किसी वाहन को चुनना पड़े तो मैं रिक्शा ही चुनूंगा। उद्धव ने कहा कि हमारी सरकार तीन पहियों की ही है, रिक्शा भी गरीबों का ही वाहन है। मैं हर हालत में गरीबों के साथ खड़ा रहूंगा। उन्होंने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी तो ये तीन पार्टियों की ही सरकार है। लेकिन केंद्र में तो जाने कितने पहिए हैं। उन्होंने बताया कि एनडीए की आखिरी मीटिंग में ही उन्हें 30-35 पार्टियां देखी थीं। मतलब वह पूरी की पूरी रेलगाड़ी थी।

गठबंधन की किसी एक पार्टी की तरफ झुकाव नहीं, पवार जी के साथ सोनिया जी से भी होती है बात
सीएम उद्धव ने इंटरव्यू में बताया कि उनका महागठबंधन की किसी एक पार्टी की तरफ ही ध्यान नहीं है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस का पहले से आक्षेप है कि मेरा झुकाव राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की ओर ज्यादा है। लेकिन बातचीत के बाद कांग्रेस की वो गलतफहमी भी दूर हो गई। उद्धव ने साफ किया कि उनकी राकांपा प्रमुख शरद पवार से नियमित तौर पर तो नहीं, लेकिन अच्छी बातचीत होती है। इसी तरह उनकी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी चर्चा होती रहती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रिम्स में जहां इलाज करवा रहे लालू यादव, वहां सुरक्षा कारणों से 18 कमरे रखे गए खाली, पूर्व सीएम ने हेमंत सोरेन को लिखी चिट्ठी
2 पारिवारिक विवाद में कांस्टेबल ने क्वारंटीन सेंटर में खाया जहर, बिहार में खाद खरीदने की होड़ में उड़ीं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
3 बिहार: डेढ़ लाख बाढ़ विस्थापितों का पेट भरने के लिए मात्र 20 चूल्हे, नीतीश सरकार के सामुदायिक किचन की खुली पोल
IPL 2020 LIVE
X