ताज़ा खबर
 

योगी आदित्य नाथ कौम के लिए खतरा, बम से उड़ा दूंगा- यूपी पुलिस को मिली धमकी, मुंबई से पकड़ा गया आरोपी

पुलिस के अनुसार, शुक्रवार को व्यक्ति ने लखनऊ पुलिस मुख्यालय में सोशल मीडिया हेल्पलाइन डेस्क पर एक व्हाट्सएप संदेश भेजा। जिसमें उसने कहा कि आदित्यनाथ कौम के लिए खतरा है और वह उन्हें बम से उड़ा देगा।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: May 24, 2020 9:39 AM
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ।

महाराष्ट्र एंटी-टेररिज्म स्क्वाड (ATS) ने शनिवार को मुंबई के एक 25 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया, जिसने कथित तौर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को “उड़ाने” की धमकी दी थी। एटीएस ने कहा कि संदिग्ध को मुंबई के चूनाभट्टी उपनगर में म्हाडा कॉलोनी से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार, शुक्रवार को व्यक्ति ने लखनऊ पुलिस मुख्यालय में सोशल मीडिया हेल्पलाइन डेस्क पर एक व्हाट्सएप संदेश भेजा। जिसमें उसने कहा कि आदित्यनाथ कौम के लिए खतरा है और वह उन्हें बम से उड़ा देगा।

लखनऊ के गोमती नगर पुलिस स्टेशन में एक एफआईआर दर्ज किया गया था और साथ ही यूपी स्पेशल टास्क फोर्स ने इस सम्बन्ध में जाँच शुरू कर दी थी। पुलिस ने भारतीय दंड संहिता और आईटी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। एक अधिकारी ने कहा, “खतरे की गंभीरता को देखते हुए, यूपी स्पेशल टास्क फोर्स ने कॉल करने वाले की लोकेशन ट्रेस करना शुरू कर दिया, जिसके बाद वह मुंबई के चूनाभट्टी में पाया गया।” डंप डेटा और ह्यूमन इंटेलिजेंस की मदद से आरोपी के लोकेशन को ट्रेस किया गया।

Coronavirus Live update: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट….

पुलिस ने कहा कि एटीएस की कलचोवेकी इकाई को तैनात किया गया और फोन करने वाले को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी ने धमकी देने के बाद अपना मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर लिया था लेकिन जैसे ही उसने इसे ऑन किया, पुलिस को भनक लग गई। एक अधिकारी ने कहा, ‘आरोपी को यूपी एसटीएफ को सौंप दिया गया है। रविवार को ट्रांजिट रिमांड के लिए अदालत में पेश किया जाएगा और फिर यूपी ले जाया जाएगा।

बता दें कामरान दक्षिणी मुंबई के नल बाजार का निवासी है। इसके बाद वो चूनाभट्टी में शिफ्ट हो गया था, जहाँ उसके घर में रिपेयर का काम चल रहा था। इससे पहले वो दक्षिणी मुंबई के ज़ावेरी बाजार में बतौर सिक्योरिटी गार्ड काम कर चुका है। 2017 में स्पाइन सर्जरी होने के बाद उसने कोई जॉब नहीं की। एटीएस अधिकारियों ने बताया है कि कामरान के पिता एक टैक्सी ड्राइवर थे, जिनकी मौत 2 महीने पहले हुई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली दंगा: 1300 को पकड़ लिया, पर सबूत-गवाह नहीं जुटा पा रही पुलिस; 20 को मिली बेल
2 जयपुर में कोरोना वायरस से 77 लोगों की मौत, राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 6,794