ताज़ा खबर
 

शिवसेना का दावा- 10 साल में मुंबई में आगजनी की 84 हजार घटनाएं हुईं, इनमें 600 से ज्यादा की जान गई

सामना में दावा किया गया, ‘‘मुंबई की गगनचुंबी इमारतें और आग की घटनाएं एक-दूसरे के पर्यायवाची बन गए हैं। पिछले एक साल में इस तरह की 10 घटनाएं हुई हैं और पिछले 10 सालों में 84,000 से ज्यादा आग की घटनाएं हुईं जिनमें 600 से ज्यादा लोगों की जान गई।

Author December 19, 2018 2:46 PM
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

शिवसेना ने बुधवार को दावा किया कि मुंबई में पिछले 10 साल में आग की 84,000 घटनाएं हुई हैं और इनमें 600 से ज्यादा लोगों की जान गई है। पार्टी ने राज्य प्रशासन द्वारा इस तरह की घटनाओं से निपटने की तैयारियों पर सवाल उठाए हैं। शिवसेना ने कहा कि आवासीय इमारतों में इस तरह की घटनाओं के लिए संबंधित लोगों, इमारतों और हाउसिंग सोसाइटी को जिम्मेदार ठहराया जाता है लेकिन सोमवार को ईएसआईसी अस्पताल में लगी आग के लिए किसे जिम्मेदार ठहराया जाए?

अंधेरी के मरोल स्थित ईएसआईसी (कर्मचारी राज्य निगम योजना) कामगार अस्पताल में लगी आग में करीब आठ लोगों की मौत हो गई और करीब 176 व्यक्ति झुलस गए। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के एक संपादकीय में कहा कि अस्पताल जिस पर लोगों का जीवन बचाने की जिम्मेदारी होती है, वही ‘प्रशासनीक लापरवाही’ की वजह से मरीजों के लिए ‘यमराज’ बन गया।

सामना में दावा किया गया, ‘‘मुंबई की गगनचुंबी इमारतें और आग की घटनाएं एक-दूसरे के पर्यायवाची बन गए हैं। पिछले एक साल में इस तरह की 10 घटनाएं हुई हैं और पिछले 10 सालों में 84,000 से ज्यादा आग की घटनाएं हुईं जिनमें 600 से ज्यादा लोगों की जान गई।” उद्धव ठाकरे नीत पार्टी ने कहा कि मुंबई की इमारतें ‘सुप्त ज्वालामुखी’ बन गई हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X