ताज़ा खबर
 

योगी आदित्‍य नाथ के गुरुभाई थे गुजरात में जन्‍मे मुस्लिम गुल मोहम्‍मद पठान उर्फ महंत गुलाबनाथ, अंत समय तक बना रहा करीबी नाता

योगी आदित्यनाथ के गुरूभाई गुलाबनाथ बापू का जन्म गुजरात के एक मुस्लिम परिवार में हुआ था और उनके जन्म का नाम गुल मोहम्मद पठान था।

महंत अवैद्यनाथ के साथ योगी आदित्यनाथ और महंत गुलाबनाथ बापू(बाएं)।

हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ का गुजरात से पुराना रिश्ता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके प्रगाढ़ संबंधों के साथ ही उनका एक और गुजरात कनेक्शन है जो उनके जीवन में काफी महत्व रखता है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक योगी आदित्य नाथ के गुरुभाई भी गुजरात से ही हैं। उनके इन गुरुभाई का नाम है गुलाब नाथ बापू। गुलाबनाथ बापू गुजरात के विसनगर में नाथ संप्रदाय के महंत थे। गुलाबनाथ का जन्म एक मुस्लिम परिवार में हुआ था और उनका जन्म का नाम गुल मोहम्मद पठान था। जन्म से मुस्लिम गुलाबनाथ बापू की पहचान आज एक हिंदू हार्डलाइनर की है। गुलाबनाथ का सिर्फ आदित्यनाथ के साथ ही नहीं बल्कि उनके भी गुरू महंत अवैद्यनाथ के साथ भी गहरा संबंध है। गुलाबनाथ बापू महंत अवैद्यनाथ को अपना गुरू मानते थे।

योगी आदित्यनाथ के मन में अपने मुस्लिम गुरुभाई के लिए हमेशा आदर और प्रेम का भाव रहा है। 6 दिसंबर 2016 को 86 साल की उम्र में जब महंत गुलाबनाथ का निधन हुआ तब योगी ने विसनगर पहुंच कर अपने गुरू को श्रद्धांजलि अर्पित की थी। महंत गुलाबनाथ की मृत्यु के बाद योगी आदित्य नाथ ने ही उनकी जगह मठ के नए महंत को नियुक्त किया था। योगी ने शंकरनाथ को विसनगर और वडगाम के मठ का महंत बनाया था। महंत गुलाब नाथ ने वडगाम मठ में ही महंत बालकनाथ से 18 साल की उम्र में दीक्षा ली थी।

गुलाबनाथ बापू गुरू शिष्य परंपरा के छठी पीढ़ी थे। विसनगर और वडगाम मठ के नए महंत शंकरनाथ का कहना है कि नाथ संप्रदाय की परंपरा के चलते बापू का महंत अवैद्यनाथ और योगी आदित्यनाथ के साथ बहुत घनिष्ठ संबंध थे। गुलाबनाथ महंत अवैद्यनाथ को अपने गुरू की तरह मानते थे। इसी कारण से योगी आदित्यनाथ बापू को अपना गुरू भाई मानने लग गए थे।

बताया जाता है कि बापू गुलबानाथ गोरखपुर मठ में होने वाले सभी अहम कार्यक्रमों में जरूर मौजूद होते थे। पिछले साल एक कार्यक्रम में गोरखपुर पहुंचे बापू को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सम्मानित भी किया था। नए मठ प्रमुख ने बताया कि हर साल योगी 2 से तीन बार विसनगर मठ जरूर आते हैं।

विसनगर के नए महंत शंकरनाथ बताते हैं कि योगी आदित्यनाथ भी हर दूसरे तीसरे साल विसनगर जरूर आते हैं। विसनगर से योगी का नाता सिर्फ नाथ संप्रदाय से ना होकर दिल का भी है। अपने गुरुभाई बापू गुलाबनाथ का स्वास्थ जब बहुत ज्यादा बिगड़ गया था तब योगी फोन से उनका हाल चाल लेते रहते थे। महंत शंकरनाथ का कहना है कि योगी आदित्यनाथ के यूपा का सीएम बनने से उन्हें काफी प्रसन्नता है। उन्होंने ये भी कहा कि, ‘हम पिछले 25 साल से उन्हें जानते हैं। वह बहुत उर्जावान और नए विचारों से भरे रहने वाले इंसान हैं। वह परंपरा के खिलाफ जाने वाले विचारों को स्वीकार नहीं करेंगे।’

VIDEO: योगी आदित्यनाथ इन तस्वीरों पर भी गौर कर लेते तो गैरभाजपाई वोटर्स भी हो जाते मुरीद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App