scorecardresearch

मप्रः महिला सफाईकर्मी के पैरों को हाथ लगाते दिखे ज्योतिरादित्य तो सोशल मीडिया पर लोग बोले- मोदी के जैसे ढोंग आ रहे हैं धीरे धीरे

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर में कहा कि सफाई कर्मचारियों की स्वास्थ्य जांच शुरू की जाएगी। इसके लिए उन्हें स्वास्थ्य कार्ड भी प्रदान किए जाएंगे।

Jyotiraditya Scindia
सफाईकर्मी का पैर छूते हुए केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (फोटो- वीडियो स्क्रीनशॉट @ANI)

मध्यप्रदेश में एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया एक सफाईकर्मी महिला के पैर छूते नजर आए हैं। इसे लेकर अब सोशल मीडिया पर लोग तंज कसते देखे जा सकते हैं। लोगों का कहना है कि सिंधिया अब पीएम मोदी की राह पर चल रहे हैं।

दरअसल सिंधिया ग्वालियर के दौरे पर थे। यहां उन्होंने कई कार्यक्रमों में भाग लिया। इसी क्रम में एक कार्यक्रम में जहां सफाईकर्मियों को सम्मानित किया गया, वहां केंद्रीय मंत्री ने एक महिला सफाईकर्मी का हाथ पकड़कर उन्हें स्टेज पर ले आए और उनका सम्मान किया। इसी दौरान उन्होंने सफाईकर्मी के पैर भी छूए। इसे लेकर सिंधिया ने ट्वीट कर कहा- “25 वर्षों से ग्वालियर को स्वच्छ और सुंदर रखने के काम को निष्ठा से करने वाली बबीता जी और साथ-साथ हमारे सभी सफाई देवी-देवताओं को मेरा शत-शत नमन”।

सिंधिया के इसी व्यवहार को लेकर सोशल मीडिया पर उनकी आलोचना हो रही है। एक यूजर एमके (@rembo_321) ने लिखा- मोदी के जैसे ढोंग आ रहे हैं धीरे-धीरे”। वहीं सचिन (@sachin_yardi) नाम के यूजर ने लिखा- “पैर धोना भूल गए महाराज”।

राज (@rajnsisodia)नाम के यूजर ने इसे परिवर्तन बताते हुए लिखा- “सिंधिया में जो यह अचानक परिवर्तन हुआ है। यह बहुत अच्छा है! इनकी खुशबू चारों तरफ फैलेगी। साथ-साथ उनके राजनीतिक जीवन को भी फायदा होगा! आम लोगों से नजदीकियां इनको एक बड़ा नेता बनाएगी”!

एक अन्य यूजर दिलीप जैन (@dilipjain1979) ने इस वीडियो पर रिप्लाई करते हुए लिखा- “एक समय था, जब महाराज सिंधिया कांग्रेस में थे। तब जनता महाराज के चरण छूती थी। आज महाराज बीजेपी में हैं और वो सफाई कर्मियों के चरण छू रहे हैं”।

बता दें कि सिंधिया पहले कांग्रेस में थे, मनमोहन सिंह की सरकार में केंद्र में मंत्री भी थे। तब उन्हें राहुल गांधी का खास माना जाता था, लेकिन एमपी में जब कांग्रेस की सरकार आई और कमलनाथ सीएम बने तो सिंधिया नाराज हो गए। कुछ महीनों बाद ही उन्होंने अपने समर्थक विधायकों के साथ पाला बदला और कमलनाथ की सरकार को गिराकर भाजपा में पहुंच गए।

पढें मध्य प्रदेश (Madhyapradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट