ताज़ा खबर
 

प्रेमिका की हत्या कर घर में दफनाने वाले उदयन ने एग्जाम में फेल होने पर कर दिया था माता-पिता का कत्ल

उदयन दास ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उसने अपने माता-पिता की हत्या केवल इसलिए कर दी थी क्योंकि उसकी इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान सेमेस्टर में बैक आ गई थी और वो काफी डर गया था।

आरोपी उदयन दास और आकांक्षा (फाइल फोटो)

भोपाल के आकांक्षा मर्डर मामले में एक और नया मोड़ सामने आया है। आरोपी उदयन दास ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उसने अपने माता-पिता की हत्या केवल इसलिए कर दी थी क्योंकि उसकी इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान सेमेस्टर में बैक आ गई थी और वो काफी डर गया था। ऐसे में घरवालों से बात छुपाने के लिए उसने अपने माता-पिता की हत्या कर दी और फिर उनकी लाश को उसने अपने घर के बगीचे में 6 फीट नीचे गाड़ दिया। इसके बाद उसने अपने रायपुर वाले घर को बेच दिया। बता दें कि पुलिस उदयन से पूछताछ करने के बाद उसे लेकर रविवार को उसके रायपुर वाले बंगले ले गई थी। जहां उसकी मौजूदगी में पुलिस की टीम ने बगीचे में खुदाई की। जिसके बाद पुलिस को खुदाई के दौरान दो नर कंकाल और बोरे में बंद कपड़े मिले हैं।

माना जा रहा है कि जो पहला वाला नर कंकाल है वो उसकी मां का है और दूसरे वाले नर कंकाल को पुलिस ने फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। रायपुर एसपी संजीव शुक्ला ने बताया कि इंजीनिरिंग की पढ़ाई के दौरान उदयन का सेमेस्टर बैक हो गया था, लेकिन ये बात उदयन ने अपने घर वालों को नहीं बताई। मां-बाप बार-बार उसे नौकरी करने के लिए बोलते थे जिससे उदयन परेशान हो गया था और बस इतनी सी बात के लिए उदयन ने अपने मां-बाप की हत्या कर उनकी लाश को जमीन में गाड़ दिया। अब रायपुर पुलिस ने भी उदयन के खिलाफ पुख्ता सुबूत हासिल कर लिया है।

उदयन दास के घर के बगीचे से मिले नरकंकाल

एसपी संजीव शुक्ला ने बताया कि आरोपी उदयन के मुताबिक खुदाई करने पर डेड बॉडी यहां से रिकवर हो गई है। उसने बताया था कि उसकी मां ने कुछ आभूषण पहन रखे थे, जोकि वो भी हमें मिल गया है।

बता दें, उदयन दास ने मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में प्रेमिका की गला दबाकर हत्या करने के बाद शव को घर के भीतर ही सीमेंट-कंक्रीट के चबूतरे में दफ्न कर दिया था। जिसके बाद पुलिस ने गुरुवार देर शाम युवती का शव बरामद करने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल के बकोरा की रहने वाली श्वेता शर्मा (28) की भोपाल के उदयन दास से फेसबुक पर दोस्ती हुई और वह प्यार में बदल गई। उसके बाद श्वेता घर वालों से नौकरी मिलने की बात कहकर जून 2016 भोपाल चली आई और यहां साकेत नगर में उदयन के साथ लिव-इन-रिलेशनशिप में रहने लगी। उसके बाद उसने पिछले दिनों किसी बात पर विवाद होने पर अपनी प्रेमिका की हत्या कर दी और फिर उसकी लाश को घर के भीतर सीमेंट कंक्रीट का चबूतरा बनवा कर उसमें चुनवा दिया।

देखिए वीडियो - सुनील जोशी मर्डर केस में बरी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा- “एक राष्ट्रवादी दूसरे राष्ट्रवादी का कत्ल नहीं कर सकता”

ये वीडियो भी देखिए - भोपाल एनकाउंटर: कैदियों के भागने में अंदर से किसी ने की मदद, बंद सीसीटीवी और नकली चाबी जैसे तथ्यों से गहराया शक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App