ताज़ा खबर
 

एमपी के पूर्व मंत्री समेत चार बीजेपी नेताओं के खिलाफ नाबालिग लड़की की शादी कराने का केस दर्ज

कांग्रेस नेता ने पहले आरोपियों के खिलाफ जिला प्रशासन से शिकायत की थी और फिर राज्य सरकार से भी कहा लेकिन जब कहीं से भी कोई कार्रवाई नहीं हुई तो उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

Shivraj Singh Chauhan, Issue of Terrorism, India is Different, No One will be Spared, Shivraj Singh Chauhan Statement, Today India, Shivraj Singh Chauhan in America, madhya pradesh cm, madhya pradesh cm in USA, National News, Jansattaमध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो)

नाबालिग आदिवासी लड़की की शादी कराने के आरोप में मध्य प्रदेश में पुलिस ने चार बीजेपी नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया है, जिनमें एक पूर्व राज्य मंत्री हरिशंकर खाटीक का नाम भी शामिल है। यह मामला टीकमगढ़ का है। कांग्रेस के नेता यादवेंद्र सिंह द्वारा आरोपी बीजेपी नेताओं के खिलाफ पुलिस में शिकायत की गई थी। रविवार को टीकमगढ़ कोर्ट ने पुलिस को आरोपी नेताओं के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज करने का निर्देश दिया। जिन चार बीजेपी नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है उनमें पूर्व मंत्री हरिशंकर खाटीक के अलावा बुंदेलखंड विकास प्रधिकरण के पूर्व चेयरमैन सुरेंद्र प्रताप सिंह, टीकमगढ़ नगर निगम के पूर्व चेयरमैन राकेश गिरी और टीकमगढ़ के पूर्व बीजेपी जिला चीफ नंदकिशोर नापित शामिल हैं।

कोर्ट ने सभी आरोपियों को 12 अक्टूबर में पेश करने का समन जारी किया है। कांग्रेस नेता यादवेंद्र सिंह के वकील अनिल त्रिपाठी ने बताया कि आरोपियों ने मुंख्यमंत्री कल्याण योजना के तहत 25 अप्रैल, 2012 को आदिवासी लड़की की शादी कराई गई थी जब वह केवल 15 साल ग्यारह महीने की थी। लड़की की शादी उसी के समुदाय के एक व्यक्ति से कराई गई जो कि पहले से शादीशुदा था। हरिशंकर ने रीति-रिवोजों को निभाते हुए लड़की का कन्यादान भी कराया था। कांग्रेस नेता ने पहले आरोपियों के खिलाफ जिला प्रशासन से शिकायत की थी और फिर राज्य सरकार से भी कहा लेकिन जब कहीं से भी कोई कार्रवाई नहीं हुई तो उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

बता दें कि प्रोहिबिशन ऑफ चाइल्ड मैरिज एक्ट के तहत शादी के लिए लड़के की उम्र 21 वर्ष और लड़की की उम्र 18 वर्षी होनी चाहिए। अगर कोई भी इस उम्र से कम लड़के-लड़की की शादी कराता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाना आवश्यक है। वहीं मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की बात करें तो उसमें राज्य सरकार की तरफ से आर्थिक कमजोर वर्ग के परिवार को शादी के लिए आर्थिक सुविधा मुहैया कराई जाती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पत्‍नी, बेटी और 100 करोड़ की संपत्ति छोड़कर जैन भिक्षु बन गया शख्‍स
2 एमपी: 25,000 से 50,000 हुआ मदरसों का सालाना अनुदान, सीएम बोले- बच्चों को हुनरमंद बनाएं
3 मध्य प्रदेश: बजरंग दल कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या, पांच संदिग्ध हिरासत में
ये पढ़ा क्या?
X