ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी के समर्थन में फेसबुक पोस्ट लिखने वाली एमपी की अफसर ने अब पीएम को शिवराज सरकार के खिलाफ लिखी चिट्ठी

अमिता सिंह वही तहसीलदार है जिन्होंने साल 2011 में मशहूर टीवी शो केबीसी में 50 लाख रुपए जीते थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश सरकार अब राज्य के ही एक सीनियर अधिकारी की वजह से सवालों के घेरे में आ गई है। दरअसल बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में फेसबुक पोस्ट लिखने वाली सूबे की राजस्व अधिकारी ने अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी है। अधिकारी ने कहा कि पीएम के समर्थन में पोस्ट लिखने के बाद उनका तबादला कर दिया गया था। अधिकारी ने आगे कहा, ‘पार्टी से जुड़े दो प्रभावशाली व्यक्तियों के खिलाफ एक्शन लेने के विरोध में सरकार फिर से मेरा तबादला कर रही है।’ बता दें कि ब्यावरा तहसीलदार अमिता सिंह तोमर ने पत्र लिखकर प्रधानमंत्री से इस मामले में हस्तक्षेप किए जाने की मांग की है। पत्र में तोमर ने कहा कि सरकार बार-बार उनका तबादला कर रही है। हाल ही उनका तबादला सिधि जिले में किया गया जो उनके घर से सैकड़ों किलोमीटर दूर है। पत्र में तोमर ने आगे कहा, ‘पार्टी से जुड़े प्रभावशाली व्यक्तियों के अवैध अतिक्रमण हटाए दिए। क्या यही मुझे इतनी दूर भेजने का परिणाम है। जबकि इसके लिए मुझसे किसी ने शिकायत नहीं की। मेरे ऊपर कोई भष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकता और कोई भी फाइल मुझसे जुड़ी हुई लंबित नहीं है। मैंने हमेशा अतिक्रमण हटाने और राजस्व वसूली में शीर्ष स्तर पर काम किया है।’

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Black
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹2000 Cashback

दूसरी तरफ राजगढ़ के कलेक्टर कर्मवीर ने कहा है कि यह एक नियमित तबादला है। इस दौरान सिर्फ तोमर का ही नहीं बल्कि राज्य में आईपीएस और आईएएस का भी तबादला किया जा रहा है। तोमर को अपनी समस्या पब्लिक में ले जाने से पहले सीनियर अधिकारियों से बात करनी चाहिए थी। जानकारी के लिए बता दें कि अमिता सिंह वही तहसीलदार है जिन्होंने साल 2011 में मशहूर टीवी शो केबीसी में 50 लाख रुपए जीते थे। 13 साल की उनकी नौकरी में सरकार 25 बार उनका तबादला कर चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App