ताज़ा खबर
 

सोते इंसान को जिंदा मिट्टी में दबाया, 8 घंटे बाद पुलिस ने निकाला

पूरे दिन मजदूरी करने के बाद विजय मैदान के कोने में चादर बिछाकर सो गया। रात में एक डंपर वहां आया और उसने मिट्टी विजय के ऊपर पलट दी। मिट्टी गिरने की घटना इतनी तेज हुई कि विजय को प्रतिक्रिया देने का भी मौका नहीं मिला।

जबलपुर में मिट्टी के भीतर से बेहोशी की हालत में मिला मजदूर। फोटो- फेसबुक

दिन भर काम करने के बाद थककर सो जाना मध्य प्रदेश के मजदूर के लिए महंगा पड़ गया। रात में सोते समय एक डंपर मजदूर के ऊपर मिट्टी डालकर चला गया। मजदूर पूरी रात उसी मिट्टी में दबा रहा। सुबह कुछ लोगों ने मिट्टी के ढेर से हाथ निकला देखा और कुत्तों को उसे नोंचता हुआ पाया। लाश की आशंका से जब पुलिस को बुलवाया गया। पुलिस ने जब मजदूर को मौके से निकाला तब जाकर पूरे मामले का खुलासा हुआ। मजदूर को पुलिस ने बेहोशी की हालत में सकुशल निकाल लिया है। उसे उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल भेजा गया है।

वाकया मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में रविवार (17 जून) की रात का है। जिले के नौदराब्रिज हनुमान मंदिर के पास में ही नगर निगम का खाली मैदान है। कुछ महीनों से नगर निगम ने इस मैदान को मिट्टी और मलबे से भरने का अभियान चला रखा था। लेकिन इस बात से बालाघाट जिले का रहने वाला 24 वर्षीय विजय विश्वकर्मा अंजान था। पूरे दिन मजदूरी करने के बाद विजय मैदान के कोने में चादर बिछाकर सो गया। रात में एक डंपर वहां आया और उसने मिट्टी विजय के ऊपर पलट दी। मिट्टी गिरने की घटना इतनी तेज हुई कि विजय को प्रतिक्रिया देने का भी मौका नहीं मिला। वहीं डंपर के साथ आए मजदूर भी संभवत: अंधेरा होने के कारण विजय को देख नहीं सके।

जबलपुर में मिट्टी के भीतर से बेहोशी की हालत में मिला मजदूर। फोटो- फेसबुक

लेकिन सुबह मौके से गुजरने वाले लोगों ने देखा कि मिट्टी से एक हाथ बाहर निकला हुआ है। कुत्तों ने उसे बाहर खींचने की कोशिश की थी। लोगों ने कुत्तों को भगाने के बाद पुलिस को सूचना दी। लोगों को शक था कि नीचे लाश है। लाश की खबर मिलते ही स्थानीय थाने के आरक्षक प्रमोद सोनी और आरक्षक राजेन्द्र कुमार ने मौका-मुआयना किया। दोनों ने कुछ मजदूरों को बुलवाकर मिट्टी हटवाई। मिट्टी हटने के बाद विजय बाहर आया। उस वक्त विजय बेहोशी की हालत में था। पुलिस ने उसे विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती करवाया है। अब विजय की हालत नियंत्रित है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App