ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी की योजना को सफल करने के जोश में प्रशासन ने काट दिए लोगों के पानी-बिजली के कनेक्‍शन

नीमच जिले के जीरन तहसील के उग्रान गांव में प्रशासन ने शौचालय नहीं बनवाने पर सात ग्रामीणों को बिजली से वंचित कर दिया है।

जिले में प्रशासन तानाशाही कार्रवाई करके लोगों को शौचालय निर्माण के लिए प्रेरित कर रही है।

मध्य प्रदेश के नीमच में शौचालय निर्माण नहीं कराए जाने पर बिजली विभाग और जल बोर्ड द्वारा तानाशाही कार्रवाई की गई है। प्रशासन ने शौचालय निर्माण को बढ़ावा देने के लिए सात घरों के बिजली कनेक्शन और तीन घरों के नल कनेक्शन को काट दी है। ऐसा हर जिले में प्रशासन तानाशाही कार्रवाई करके लोगों को शौचालय निर्माण के लिए प्रेरित कर रही है। लेकिन नीमच जिले के जीरन तहसील के उग्रान गांव में प्रशासन ने शौचालय नहीं बनवाने पर सात ग्रामीणों को बिजली से वंचित कर दिया है। प्रशासन ने तानाशाहीपूर्ण कार्रवाई करते हुए तीन परिवारों के नल के कनेक्शन भी काट दिए।

उग्रान गांव में रहने वाले गोपाल भी उन्हीं लोगों में शामिल हैं, जिनके घर के बिजली कनेक्शन प्रशासन ने काट दिए। गोपाल बताते हैं, ‘हम शौचालय नहीं बनवा पा रहे है। इसलिए हमारे घर के बिजली कनेक्शन काट दिए गए। बच्चों को पढ़ाने में काफी मुश्किल आ रही है। बिजली नहीं होने की वजह से हम काफी परेशान है। अब फसल के पैसे आने के बाद शौचालय का निर्माण करेंगे।’

जनपद पंचायत नीमच के सीईओ अरविंद डामोर खुद को इस फैसले से अलग करते हुए इसे ग्रामीणों का फैसला बता रहे हैं। डामोर का कहना है कि वह उग्रान गांव के दौरे पर गए थे। जहां कुछ घरों में शौचालय नहीं होने पर ग्रामीणों ने ही ऐसे परिवारों को सुविधाओं से वंचित करने का सामूहिक फैसला लिया था, जिसके बाद प्रशासन की तरफ से कार्रवाई की गई।’

इन लोगों के बिजली कनेक्शन काटे गए

-गोपाल पिता मोड़ीराम
-गोविन्द पिता उदयराम
-दिलीप पिता परते सिंह
-राधेश्याम पिता भरतलाल
-शम्भूसिंह पिता तेल सिंह
-गोपाल पिता खुमान सिंह
-राधेश्याम पिता हरिराम

देखिए वीडियो - गुजरात के नर्मदा जिले में लोग शौचालयों के साथ सेल्फी ले रहे हैं, जानिए क्यों

ये वीडियो भी देखिए - मध्य प्रदेश: प्रसव के लिए अस्पताल पहुंची नाबालिग, पुलिस को दिए बयान में कहा- “जिन्न ने किया गर्भवती”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App