ताज़ा खबर
 

यूपी के बाद मध्‍य प्रदेश के मदरसों में भी होगी तिरंगा रैली, बोर्ड ने पहली बार दिया आदेश

उत्तर प्रदेश के बाद अब मध्य प्रदेश सरकार ने भी सूबे के मदरसों को लिए नया फरमान जारी कर दिया है। सरकार ने अपने निर्णय में सभी पांच हजार मदरसों से कहा है कि स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) के दिन अनिवार्य रूप से तिंरगे को फहराएं।
उत्तर प्रदेश में करीब 8525 मदरसे मान्यताप्राप्त हैं लेकिन उनमें से 562 मदरसों को ही सरकारी अनुदान मिल रहा है। सांकतिक फोटो (file photo Indian express)

उत्तर प्रदेश के बाद अप मध्य प्रदेश सरकार ने भी सूबे के मदरसों को लिए नया फरमान जारी कर दिया है। सरकार ने अपने निर्णय में सभी पांच हजार मदरसों से कहा है कि स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) के दिन अनिवार्य रूप से तिंरगे को फहराएं। साथ ही तिरंगा रैली का भी आयोजन किया जाए। और इसकी तस्वीरें इमेल के जरिए संबंधित विभाग को भेंजे। गौरतलब है कि सूबे में ऐसा पहली बार है जब मदरसों के लिए इस तरह का आदेश जारी किया गया है। मामले में मध्य प्रदेश मदरसा बोर्ड के चेयरमैन सैयद इमादउद्दीन ने कहा, ‘राज्य के सभी मदरसों को 15 अगस्त पर तिरंगा फहराने की तस्वीरें और स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित कार्यक्रमों की तस्वीरें भेजनी होंगी। राज्य के सभी मदरसों के इस तरह के आदेश दिए गए हैं।’ जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश में करीब पांच हजार पंजीकृत मदरसे हैं। जो कई सालों से लगातार स्वंतत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। बता दें इससे पहले उत्तर प्रदेश की सरकार ने 15 अगस्त को प्रदेश के सभी मदरसों की वीडियोग्राफी कराने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने ये सुनिश्चित करने का फैसला किया है कि 15 अगस्त को हर हाल में मदरसों में शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाए और सांस्कृतिक कार्यक्रमों को संपन्न किया जाए।

दरअसल उत्तर प्रदेश मदरसा परिषद बोर्ड की ओर से 3 अगस्त को जिला अल्पसंख्यक अधिकारी को एक पत्र भेज कर निर्देश दिया गया है कि स्वतंत्रता दिवस पर सुबह आठ बजे झंडारोहण एवं राष्ट्रगान होगा। सुबह आठ बजकर 10 मिनट पर अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाएगी। इन सभी कार्यक्रमों की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी कराकर जिले के अल्पसंख्यक अधिकारी को सौंपने का भी निर्देश दिया गया है। प्रदेश के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब इस तरह से वीडियोग्राफी कर मदरसों पर नजर रखी जाएगी। आपको बता दें कि इस वक्त उत्तर प्रदेश में लगभग 8000 मदरसे हैं जो प्रदेश मदरसा परिषद के तहत आते हैं। इनमें से 560 मदरसे ऐसे हैं जो पूरी तरह से सरकार से मिली वित्तीय सहायता पर चलते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.