ताज़ा खबर
 

सर्वे: एमपी में कांग्रेस-बसपा मिली तो बीजेपी को हो सकता है 39 सीट का नुकसान! 

सर्वे के मुताबिक अगर कांग्रेस-बसपा ने मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव भी साथ लड़ा तो भाजपा को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। भाजपा मौजूदा 26 सीट से घटकर 16 पर आ सकती है जबकि कांग्रेस- बसपा गठबंधन के खाते में 13 सीटें आ सकती हैं।

बसपा ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान तीनों राज्यों में चुनाव पूर्व गठबंधन की शर्त रखी थी। (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश में कांग्रेस-बसपा का गठबंधन नहीं हुआ तो भाजपा की 15 साल पुरानी सरकार आगे भी चलती रह सकती है। तमिलनाडु की मीडिया कंपनी ‘स्पिक मीडिया नेटवर्क’ ने मध्य प्रदेश विधान सभा चुनावों से पूर्व एक सर्वे कराया है जिसमें कहा गया है कि अगर कांग्रेस ने बसपा से गठबंधन नहीं किया तो वह भारतीय जनता पार्टी का बाल भी बांका नहीं कर सकेगी और राज्य में फिर से भाजपा की सरकार बनेगी। सर्वे के मुताबिक अगर कांग्रेस-बसपा ने गठजोड़ कर लिया तो भाजपा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। सर्वे में दिखाया गया है कि अगर कांग्रेस बिना बसपा के अकेले चुनाव लड़ती है तो भाजपा 230 सदस्यों वाली विधान सभा में बहुमत के आंकड़े (116) से आगे रहते हुए कुल 147 सीटें जीत सकती है, जबकि कांग्रेस को कुल 73 सीटें मिल सकती हैं।

दूसरी स्थिति के बारे में सर्वे रिपोर्ट कहती है कि अगर कांग्रेस और बसपा ने मिलकर विधान सभा चुनाव लड़ा तो भाजपा 126 पर सिमट सकती है (बहुमत से मात्र 10 सीट ज्यादा), जबकि कांग्रेस-बसपा गठबंधन को 103 सीटें (बहुमत से 13 कम) मिल सकती हैं। यानी इस सूरत में भाजपा को 2013 के चुनाव के मुकाबले कुल 39 सीटों का नुकसान हो सकता है जबकि गठबंधन को 41 सीटों का फायदा हो सकता है। बता दें कि 2013 के विधान सभा चुनाव में भाजपा को कुल 165 सीटें मिली थीं जबकि कांग्रेस को 58 और बसपा को चार सीट मिली थी।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32GB Fine Gold
    ₹ 8184 MRP ₹ 10999 -26%
    ₹1228 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback

नेशनल हेराल्ड के मुताबिक स्पिक मीडिया ने यह सर्वे 15 जून से 15 जुलाई के बीच कराया है। कंपनी ने 27 जुलाई को यह रिपोर्ट प्रकाशित की है। कंपनी ने लोकसभा चुनाव को लेकर भी सर्वे कराया है। सर्वे के मुताबिक अगर कांग्रेस-बसपा ने मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव भी साथ लड़ा तो भाजपा को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। भाजपा मौजूदा 26 सीट से घटकर 16 पर आ सकती है जबकि कांग्रेस- बसपा गठबंधन के खाते में 13 सीटें आ सकती हैं। यानी भाजपा को कुल 10 सीटों का नुकसान उठाना पड़ सकता है। सर्वे के मुताबिक अगर आगामी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस-बसपा गठबंधन नहीं हुआ तो बीजेपी 19 सीटें जीत सकती हैं, जबकि कांग्रेस 7 और बसपा एक सीट पर जीत सकती है। यानी साथ मिलकर लड़ने पर पांच सीटों का फायदा गठबंधन को हो सकता है।

बता दें कि इस साल के अंत तक मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में विधान सभा चुनाव होने हैं। इसके बाद अगले साल अप्रैल-मई में लोकसभा चुनाव हो सकते हैं। इसको ध्यान में रखते हुए कांग्रेस और बसपा के बीच गठबंधन की कोशिशें जारी हैं। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस, बसपा, सपा और रालोद के बीच गठबंधन हो चुका है और अब मध्य प्रदेश में भी डील जल्द पक्की होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App