ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद और प्रदेश अध्यक्ष ने कहा- अपराधियों को बचाने के लिए हम पुलिस को करते हैं फोन

नंद कुमार सिंह चौहान ने कहा, "एक अपराधी भी क्राइम करने के बाद अपने जन प्रतिनिधि से कुछ मदद की उम्मीद करता है, और हमलोग पुलिस को फोन करने को मजबूर होते हैं और ये कहते हैं कि फलां व्यक्ति ने ऐसा-ऐसा काम किया है, लेकिन उसे छोड़ दीजिए।"

बीजेपी सांसद नंद कुमार सिंह चौहान।

मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान ने एक विवादित बयान दिया है। खंडवा से सांसद नंद कुमार सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य में नेताओं के द्वारा पुलिस पर अपराधियों को बचाने के लिए दबाव दिया जाता है। उन्होंने कहा कि कई अपराधी हैं नेता जिनका संरक्षण करते हैं। एमपी में इसी साल विधान सभा के चुनाव होने हैं। इस बयान से सार्वजनिक मंचों पर पार्टी की किरकिरी हो सकती है। नंद कुमार सिंह चौहान ने कहा, “एक अपराधी भी क्राइम करने के बाद अपने जन प्रतिनिधि से कुछ मदद की उम्मीद करता है, और हमलोग पुलिस को फोन करने को मजबूर होते हैं और ये कहते हैं कि फलां व्यक्ति ने ऐसा-ऐसा काम किया है, लेकिन उसे छोड़ दीजिए।” नंद कुमार चौहान मध्य प्रदेश के बुरहानपुर में एक पुलिस स्टेशन का उदघाटन कर रहे थे।

नंद कुमार चौहान ने कहा, “पुलिस प्रशासन का संरक्षण हो, और गुंडों पर लगाम कसी जाय, असामाजिक तत्त्वों पर लगाम कसी जाए, इस उहापोह के बीच अनेक प्रकार के दबाव में पुलिस प्रशासन काम करता है, मैं सामाजिक जीवन में हूं, विधायक और सांसद रहते हुए इन चीजों से रु-बरू हुआ हूं, एक अपराधी भी अपराध करने के बाद अपने जनप्रतिनिधि से राहत की अपेक्षा करता है, और हमकों भी विवशता में पुलिस को फोन करना पड़ता है, भाई इसने ऐसा किया इसे छोड़ दो।” नंद कुमार चौहान ने कहा कि पुलिस इन राजनीतिक दबाव में काम करती है, लिहाजा पुलिस बस को समाज से सहयोग की जरूरत है।

बीजेपी नेता ने कहा कि पुलिस को समाज से सहयोग की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस को समाज का सहयोग मिलता है, दोनों के बीच अहं का टकराव नहीं होता है, तो अपराध खुद-बखुद कम हो जाता है। बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बात की चर्चा है कि  मध्य प्रदेश में मुंगावली और कोलारस उपचुनाव में बीजेपी की हार के बाद चौहान पार्टी और पद छोड़ सकते हैं। एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक जब बीजेपी राज्यसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवार के नाम पर चर्चा कर रही थी तो उन्हें कथित तौर पर इस मीटिंग में नहीं बुलाया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App