ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश: चोर को गिरफ्तार करवाने के लिए उसकी प्रेमिका बन गई महिला एसआई, मिलने बुलाया तो पकड़कर जेल में डाल दिया

मध्य प्रदेश के इंदौर में चोर-पुलिस का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे अगर फिल्मी कहानी कहा जाए तो गलत नहीं होगा।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश के इंदौर में चोर-पुलिस का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे अगर फिल्मी कहानी कहा जाए तो गलत नहीं होगा। दरअसल यहां महिला पुलिस ने एक शातिर चोर को पकड़ने के लिए फिल्मी स्टाइल में जाल बिछाकर आरोपी को गिरफ्तार किया है। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने चोर को गिरफ्तार करने के लिए ऐसा इसिलए किया क्योंकि वह काफी पढ़ा-लिखा और शातिर था। इसलिए पुलिस विभाग ने चोर को पकड़ने के लिए महिला पुलिस द्वारा हनी ट्रैप का इस्तेमाल किया। जिसके तहत चोर को गिरफ्तार करने के लिए पहले महिला एसआई ने उसे व्हाट्सएप मैसेज किया। बाद में दोनों के बीच मैसेज के माध्यम से बातचीत होने लगी। जिसपर महिला एसआई ने उससे मिलने की बात कही जिसे चोर ने मान लिया। खबर के अनुसार चोर को पकड़ने के लिए पुलिस ने पहले ही इसकी तैयारियां कर लीं थीं और महिला पुलिस के आसपास सिविल ड्रेस में पुलिसकर्मी तैनात किए गए। ताकि किसी भी खतरे से निपटा जा सके। और जैसे ही चोर एसआई से मिलने पहुंचा उसे तुंरत गिरफ्तार कर लिया गया। मामले ने पुलिस ने बताया कि आरोपी शख्स ने रिटायर्ड बैंक अकाउंटेंट का एटीएम और मोबाइल चुराया था। एएसपी क्राइम ब्रांच अमरेंद्र सिंह चौहान ने कहा, ‘हमने बुधवार (19 जुलाई, 2017) को आरोपी प्रकाश (25) सिविल लाइन कॉलोनी से गिरफ्तार किया है। आरोपी इंदौर में दवा बाजार के पास आर्य हॉस्टल में रहता है और यहां के गुजराती कॉलेज में एमकॉम अंतिम वर्ष का छात्र है। आरोपी प्रकाश सीए फाइनल ईयर की तैयारी भी कर रहा है। और करीब पांच साल से इंदौर में रहता है।’

एएसपी अमरेंद्र ने आगे बताया कि एटीएम से पैसे निकालने के दौरान प्रकाश की सीसीटीवी फुटेज कैमरे में कैद हो गई थी। जिससे उसे पकड़ने में हमें काफी आसानी हुई। आरोपी के पास से दो मोबाइल फोन बरामद हुए हैं जिन्हें जब्त कर लिया है। एएसपी ने आगे बताया कि आरोपी अपने शौक पूरे करने के लिए चोरी करता था। गिरफ्तार प्रकाश को इंदौर क्राइम ब्रांच के हवाले कर दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.