ताज़ा खबर
 

ब्लू व्हेल गेम: इंदौर में 7वीं क्लास का छात्र गेम का चैलेंज पूरा करने के लिए तीसरी मंजिल से कूदा

50 दिन तक यह गेम मानसिक रूप से खिलाड़ियों को उत्तेजित करता है और अलग अलग तरह के चैलेंज देता रहता है।

मुंबई में 14 साल के लड़के ने ब्लू व्हेल गेम का चैलेंज पूरा करने के लिए सुसाइड कर लिया था। (Photo: Twitter)

ब्लू व्हेल गेम का टास्क पूरा करने के चक्कर में इंदौर के सातवीं क्लास के स्टू़डेंट ने आत्महत्या करने की कोशिश की, लेकिन कुछ सतर्क विद्यार्थियों ने उसे इस गेम की जानलेवा चुनौती पूरी करने से रोक दिया। इस पूरी कहानी को उसने अपनी डायरी में लिखा है। सुसाइड करना भी ब्लू व्हेल गेम का ही हिस्सा है। स्कूल के सूत्रों के मुताबिक स्कूल में इस स्टूडेंट के कुछ दोस्तों को पता था कि वह इस चुनौती का प्रयास कर रहा था लेकिन इसे गंभीरता से नहीं लिया, क्योंकि उनको इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं थी। पुलिस के मुताबिक लड़के के हाथ या कहीं और अपने द्वारा दी गई चोट के निशान नहीं थे। दुनिया भर में यह गेम कई किशोरों की मौत का जिम्मेदार है। 50 दिन तक यह गेम मानसिक रूप से खिलाड़ियों को उत्तेजित करता है और अलग अलग तरह के टास्क देता रहता है, आखिर में आत्महत्या के लिए उकसाया जाता है।

गौरतलब है कि हाल में मुंबई में 14 साल के एक लड़के ने ऑनलाइन गेम ब्लू वेल के लास्ट स्टेप को पूरा करने के लिए सुसाइड कर लिया था। कथित तौर पर ऐसा माना जा रहा है कि यह भारत में व्लू व्हेल गेम के कारण होने वाली पहली मौत थी।

इस गेम की वजह से अब तक दुनियाभर में 150 सुसाइड के मामले सामने आ चुके हैं। केरल सरकार ने केंद्र से गेम पर रोक लगाने की मांग की है। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी कहा है कि हम भी इस गेम पर बैन लगाने की मांग करेंगे।

क्या है ये गेम: ‘द ब्लू व्हेल गेम’ या ‘द ब्लू व्हेल चैलेंज’ रूस में बना एक इंटरनेट गेम है। इसमें प्लेयर को 50 दिन तक कुछ खास टास्क बताए जाते हैं। एक-एक कर सारे टास्क पूरे करते रहने पर आखिरी में सुसाइड के लिए उकसाया जाता है। हर टास्क पूरा होने पर प्लेयर को अपने हाथ पर एक कट लगाने के लिए कहा जाता है। आखिरी में जो इमेज उभरती है, वो व्हेल मछली की तरह होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App