ताज़ा खबर
 

डॉक्‍टर का दावा: पुजारी ने ल‍िखा- आप बहुत सुंदर हो, आई लव यू, न्‍यूड फोटो भी मांगी, चैट वायरल

स्थानीय लोगों के हंगामे के बाद सीतामऊ थाने के प्रभारी ने चैट वायरल करने वाली महिला से फोन पर बात की है। महिला ने आरोपों को सही ठहराया और पुलिस को अगले महीने आकर लिखित शिकायत दर्ज कराने की बात कही है।

कई सामाजिक संगठनों ने रविवार (27 अगस्त) को पुजारी जीतेन्द्र दास का पुतला भी फूंका।

मध्य प्रदेश के इंदौर जिले का एक बाबा विवादों में है। उस पर महिलाओं का शोषण करने औक अश्लील हरकत करने करे आरोप लगे हैं। बाबा मंदसौर के सीतामऊ इलाके में रहता है और पुजारी संघ का अध्यक्ष है। उस पर एक महिला डॉक्टर ने फोन पर अश्लील चैटिंग करने के आरोप लगाए हैं। आरोप लगाने वाली महिला लखनऊ की है और उसने इस बाबा के अश्लील चैट सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। चैट के मुताबिक बाबा महिला से न्यूड फोटो भेजने को कह रहा है। इसके अलावा चैट में वो महिला से अपने प्यार का इजहार भी कर रहा है।

आरोपी बाबा का नाम जीतेन्द्र दास है। वह सीतामऊ के रामकुंड का रहने वाला है। बाबा का चैट वायरल होने के बाद स्थानीय सामाजिक संगठनों ने बाबा के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की है। इसके अलावा सामाजिक संगठनों ने रविवार (27 अगस्त) को पुजारी जीतेन्द्र दास का पुतला भी फूंका। उधर, बाबा का कहना है कि वो फेसबुक और व्हाट्सअप चलाना नहीं जानते, किसी ने उसकी आईडी का दुरुपयोग किया है।

स्थानीय लोगों के हंगामे के बाद सीतामऊ थाने के प्रभारी ने चैट वायरल करने वाली महिला से फोन पर बात की है। महिला ने आरोपों को सही ठहराया और पुलिस को अगले महीने आकर लिखित शिकायत दर्ज कराने की बात कही है। बतौर पीड़ित महिला वह और पुजारी जीतेन्द्र दास हिन्दू राष्ट्र सेना नाम के एक व्हाट्सअप ग्रुप से जुड़े हैं। करीब एक महीने पहले पुजारी ने सेना के एक अन्य संत के खिलाफ अश्लील कमेंट किए थे। उस संबंध में और अधिक जानकारी हासिल करने के लिए महिला ने फर्जी आईडी बनाकर पुजारी जीतेन्द्र दास से चैटिंग शुरू की।

कुछ दिनों में ही पुजारी महिला से अश्लीलता पर उतर आया। वह गंदे-गंदे चैट करने लगा। आरोपों पर पुजारी का कहना है कि उसने आरोप लगाने वाली महिला को आज तक देखा ही नहीं है तो उससे चैट कैसे करूंगा। पुजारी ने कहा कि वो फिलहाल दिल्ली में है और मामले की सायबर जांच कराएंगे। स्थानीय संगठनों के लोगों ने भी पुजारी पर अन्य दो-तीन महिलाओं का शोषण करने का आरोप लगाया है। इस बीच पुलिस का कहना है कि अगर आरोप लगाने वाली महिला थाने में नहीं आती है, तब भी पुलिस आईटी एक्ट के तहत वायरल मैसेज के आधार पर पुजारी के खिलाफ केस कर सकती है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App