ताज़ा खबर
 

गोमांस ले जाने के शक में दो मुस्लिम महिलाओं को पीटा, अबतक 27 लोग हो चुके हैं गौरक्षकों का शिकार

गाय माता की जय का नारा लगाते हुए भीड़ महिलाओं की पिटाई कर रही थी लेकिन लोग तमाशबीन बने हुए थे और उनकी पिटते हुए वीडियो बना रहे थे।
इस रपट में विश्व में बीफ निर्यातक देशों में ब्राजील पहले स्थान पर, जबकि आस्ट्रेलिया दूसरे स्थान पर है। (संकेतात्मक तस्वीर)

देश में गौरक्षा के नाम पर भीड़ द्वारा लोगों की पिटाई किए जाने के मामले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे है। ताजा मामला मध्य प्रदेश का है जहां पर भीड़ द्वारा गाय का मांस ले जाने के शक में दो मुस्लिम महिलाओं की पिटाई कर दी गई। गाय माता की जय का नारा लगाते हुए भीड़ महिलाओं की पिटाई कर रही थी लेकिन लोग तमाशबीन बने हुए थे और उनकी पिटते हुए वीडियो बना रहे थे। यह मामला पश्चिमी मध्य प्रदेश के मंदसौर का है। एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार इस घटना के बाद दोनों महिलाओं को ही प्रदेश में बैन के बावजूद गाय का मांस ले जाने के शक में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

इसके बाद पुलिस ने अपने एक बयान में कहा था कि वह गाय का नहीं भैस का मांस था जिसपर बैन नहीं लगा है। पुलिस ने बिना परमिट के मांस का निर्यात करने का केस दर्ज किया। इन महिलाओं पर तो कार्रवाई की गई लेकिन उनपर हमला करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। प्रदेश में इस साल गौरक्षा के नाम पर अभी तक मुस्लिमों पर किए गए 27 हमलों के मामले दर्ज हो चुके है। पिछले आठ सालों में गाय से संबंधित हमलों के 70 मामले दर्ज हुए है।


मीडिया द्वारा जारी की गई रिपोर्ट्स का एक डाटा बनाया जाए तो 2014 लोकसभा चुनाव में एनडीए की जीत के बाद जबसे नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने है, तबसे देश में इस प्रकार की 97 प्रतिशत हिंसा हुई हैं। हिन्दुस्तान टाइम्स के अनुसार  इन हिंसाओं में 54 प्रतिशत गाय से संबंधित हिंसाएं है। ये ज्यादातर हिंसाएं उन्हीं राज्यों में हुई हैं जहां पर भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। इस डाटा के अनुसार इन हिंसाओं का शिकार 51 प्रतिशत मुसलमानों को बनाया गया है। इन घटनाओं में 28 लोगों की जान गई है जिनमें 24 मुसलमान थे। अफवाह के आधार पर भीड़ द्वारा लोगों को अपना शिकार बनाया गया है। अब तक इस प्रकार के हमलों में 136 लोग घायल हुए है लेकिन सरकार द्वारा इन घटनाओं पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Jul 29, 2017 at 4:19 pm
    बीजेपी के पापों का घड़ा भरता जा रहा है. वह दिन दूर नहीं जब गौ रक्षकों की जान बचाने वाला कोई न होगा. अभी तीन दिन पहले राजस्थान की गोशाला में तीन सौ गायें मर गईं किसी गौरक्षक के मुंह से एक शब्द नहीं निकला. क्यों नहीं गोशाला के सभी प्रबंधकों को जान से मार दिया? जान बूझ कर केवल मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है. यह कैसा राम राज है जहाँ केवल अत्याचार ही अत्याचार है? क्या इसी को हिन्दू धर्म कहते हैं?
    (0)(0)
    Reply
    1. P
      Peeyush Singh
      Jul 29, 2017 at 4:09 pm
      Gaay ko abhi bhi jaanwar hi samjha jaa raha hai jabki ye Hindu ki aastha ka kendra rahi hai.. Beejapur ka sultan ka shauk tha Gaay ko mukhya darwaaje par katwaana ki Hindu dekhe aur Muslim bane lekin uski yahi galti aur Aurangzeb ke anya krityo ne Shivaji ko Hindu swaraj banaane ko majboor kiya tha
      (0)(0)
      Reply
      1. K
        krishna kumar
        Jul 29, 2017 at 3:47 pm
        क्या ये लोग गौरखक है ऐसे लोग इंसानियत के दुश्मन है इन्हे भी सरेआम उसी तरह से पीटना चाहिए सर मुंडवा कर पर बैठाकर जुलुस निकालना चाहिए देश के शत्रु है रखक नहीं.r
        (0)(0)
        Reply