ताज़ा खबर
 

एमपी: डकैत ने सपा नेता के बेटे को किडनैप कर मांगी फिरौती, नेताजी ने डकैत के मां-बाप को ही उठवा लिया

सपा नेता संतू सिंह के मुताबिक 30 जुलाई को वह और 12 अन्य लोग चित्रकूट के करवी से एक समारोह में शामिल होकर वापस लौट रहे थे जब रेलवे क्रॉसिंग बंद होने के कारण उन्होंने अपनी एसयूवी फाटक पर रोक दी।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

मध्य प्रदेश में एक डकैत ने समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता के बेटे को अगवा कर लिया और फिरौती की मांग की। इसके बदले में नेता और उनके रिश्तेदारों ने डकैत के माता-पिता को ही किडनैप कर लिया। मामला मध्य प्रदेश के सतना जिले का है। यहां सपा नेता संतू सिंह के बेटे को डकैत बब्ली कोल ने अगवा कर लिया था। सपा नेता ने अपने ऊपर लगे डकैत के मां-बाप को किडनैप करने के आरोप को खारिज किया है। पुलिस का भी यही मानना है। लेकिन स्थानीय अखबारों के मुताबिक डकैत कोल के पैरेंट्स को सिंह द्वारा उठवाया है और 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है।

सपा नेता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में अपने ऊपर लगे किडनैपिंग के आरोप को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि 24 घंटे का अल्टीमेटम सभी को (पुलिस, प्रशासन और डकैत तीनों) दिया गया है। कथित तौर पर डकैत कोल ने सिंह के बेटे को अगवा करने के बाद छोड़ने के लिए 50 लाख रुपए फिरौती मांगी है। स्थानीय रिपोर्ट्स के मुताबिक सपा नेता के बेटे को मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमा से किडनैप किया गया है और उसे सतना में कहीं रखा गया है। दोनों पक्षों में बातचीत जारी है। डकैत को आश्वासन दिया गया है कि अगर विजय को बिना किसी नुकसान पहुंचाए छोड़ दिया गया तो उसके माता-पिता को छोड़ दिया जाएगा।

सपा नेता संतू सिंह के मुताबिक 30 जुलाई को वह और 12 अन्य लोग चित्रकूट के करवी से एक समारोह में शामिल होकर वापस लौट रहे थे जब रेलवे क्रॉसिंग बंद होने के कारण उन्होंने अपनी एसयूवी फाटक पर रोक दी। गेट काफी देर तक बंद रहा। जिसके बाद उनका बेटा गार्ड को देखने के लिए उसके कैबिन में गया। जहां 4 बंदूकधारियों ने उसे बंधक बना लिया। यह देखकर सभी लोग हैरान रह गए। उन लोगों ने हम पर भी बंदूक तान दी और बेटे को वहां से लेकर चले गे। यही नहीं मेरा फोन भी ले गए और कुछ देर बाद उन्होंने फोन करके 50 लाख रुपए फिरौती की मांग की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.