ताज़ा खबर
 

पद्मावत: BJP MLA ने किया करणी सेना का बचाव, कहा- आपकी मां को गाली देगा तो आप क्‍या करोगे

Padmavati Movie Release: पत्रकारों से बात करते हुए विधायक महोदय ने कहा, 'मध्य प्रदेश की सरकार हो यहां कहीं की भी सरकार वो जनभावनाओं का ध्यान रखेगी ना वो, जनभावना से बड़ी चीज कोई थोड़े ना हो सकती है। इस देश की जनता से बड़ा कौन हो सकता है।'

दीपिका पादुकोण ने फिल्म पद्मावत के लिए समर्थन मिलने पर लोगों का आभार जताया है।

फिल्म पद्मावत को लेकर जारी विवाद के बीच कुछ नेताओं के बयान हैरान करने वाले हैं। इसी कड़ी में नाम आया है मध्य प्रदेश के बीजेपी विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह का। भोपाल मध्य क्षेत्र के विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह ने करणी सेना की करतूतों का बचाव करते हुए कहा कि अगर आपकी मां को कोई गाली देगा तो आप क्या करेंगे। पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘मध्य प्रदेश की सरकार हो यहां कहीं की भी सरकार वो जनभावनाओं का ध्यान रखेगी ना वो, जनभावना से बड़ी चीज कोई थोड़े ना हो सकती है। इस देश की जनता से बड़ा कौन हो सकता है।’ जब पत्रकारों ने सुरेन्द्र नाथ सिंह ने पूछा कि जो वे लोग गालियां दे रहे हैं वो क्या ठीक है। इसके जवाब में विधायक महोदय ने कहा, ‘देखिए साहब अगर आपकी मां को कोई गाली बकेगा तो आप क्या करोगो, जो आप करोगे वही उस समाज के लोग कर रहे हैं।

देखिए वीडियो:

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बावजूद फिल्म ‘पद्मावत’ गुरुवार (25 जनवरी) को मध्य प्रदेश में रिलीज नहीं हो पाई है। वहीं, सिनेमाघर मालिक राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करने के बाद कोई फैसला होने की बात कह रहे हैं। सिनेमाघर मालिक सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं और सुरक्षा मांग रहे हैं। इसी मसले को लेकर मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री और सिनेमाघर मालिकों के बीच चर्चा हो रही है। राज्य सरकार के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि राज्य सरकार का रुख साफ है। वह फिल्म की रिलीज के पक्ष में नहीं है। सरकार सर्वोच्च न्यायालय में रिव्यू पेटिशन दायर करेगी। अभी मुख्यमंत्री व सिनेमाघर मालिकों के बीच चर्चा हो रही है और इस पर फैसला जल्दी हो जाएगा।

राज्य के विभिन्न हिस्सों में पिछले कई दिनों से फिल्म को लेकर प्रदर्शन का दौर जारी है। कई स्थानों पर करणी सेना व अन्य संगठन फिल्म का विरोध कर रहे हैं। राज्य के मुख्यमंत्री चौहान पहले से ही फिल्म प्रदर्शन के पक्ष में नहीं है। सर्वोच्च न्यायालय में भी याचिका दायर कर राज्य सरकार ने फिल्म पर रोक का अनुरोध किया मगर सफलता नहीं मिली। सर्वोच्च न्यायालय ने फिल्म के रिलीज होने के निर्देश दिए, इस पर चौहान ने कहा कि सरकार रिव्यू पेटिशन दायर करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App