ताज़ा खबर
 

छेड़छाड़ से परेशान 11वीं की छात्रा ने कर ली खुदकुशी तो भड़के लोगों ने पुलिस पर बरसाए पत्थर

छात्रा की आत्महत्या से भड़के लोगों ने बाजार बंद करा दिए और पुलिस पर जमकर पत्थरबाजी की।

molestation,suicide.girl,madhya pradesh, section 144प्रतीकात्मक चित्र

मध्य प्रदेश में छेड़छाड़ की शिकार 11वीं कक्षा की छात्रा के आत्महत्या करने के बाद हरदा शहर में हिंसा भड़क गई है। छात्रा की आत्माहत्या से भड़के लोगों ने बाजार बंद करा दिए और पुलिस पर जमकर पत्थरबाजी की। पुलिस ने हालात पर काबू पाने की खूब कोशिश की लेकिन जब पुलिस कामयाब नहीं हो पाई तो शहर में धारा 144 लगा दी गई। हरदा के खेड़ीपुरा की रहने वाली 11वीं की छात्रा के साथ कुछ युवक काफी समय से छेड़छाड़ कर रहे थे जिसकी खबर उसने अपने परिजनों को दी। परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस थाने में दर्ज करायी थी। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों से पूछताछ करने के बाद उन्हें छोड़ दिया था।

इसके बाद भी आरोपी अपनी हरकतों से बाज नहीं आए और बुधवार को उन्होंने छात्रा के साथ फिर से छेड़खानी की। घर पहुंचने के बाद पीड़ित छात्रा ने आपबीती घरवालों को बताई। जिसके बाद परिजनों ने दोबारा थाने में शिकायत दर्ज करायी। परिजनों द्वारा दिए गए बयान के अनुसार पुलिस ने इस मामले में तकरीबन 10 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया लेकिन किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। आरोपियों के खिलाफ किसी भी प्रकार की कार्रवाई न होता देख गुरुवार को छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

ईटीवी के मुताबिक पीड़ित छात्रा के आत्महत्या करने के बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी न होने के कारण हरदा शहर के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। लोगों ने पुलिस पर पथराव किया और बाजार भी बंद करवा दिए। इस सबको देखते हुए शहर में धारा 144 लगा दी गई है। इस मामले में एसपी आदित्य प्रताप सिंह का कहना है कि फिलहाल स्थिति पर नियंत्रण पा लिया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि शहर में हालात और न बिगड़े इसके लिए अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया जा रहा है।

थाना प्रभारी के मुताबिक पिछले साल भी छात्रा के परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ छेड़खानी का केस दर्ज कराया था। इस मामले में दोनों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। इस घटना के बाद आए दिन दोनों गुटों में मारपीट की शिकायतें आती रहती थी जिसके लिए थाना प्रभारी ने दोनों पक्ष के बीच सुलह कराने की भी कोशिश की थी लेकिन आरोपी अपनी हरकतों से बाज नहीं आए और उन्होंने छात्रा के साथ फिर छेड़खानी की जिसके चलते गुरुवार को छात्रा ने आत्महत्या कर ली।

वहीं छात्रा के परिजनों ने आरोप लगाया है कि इस मामले में पुलिस ने उनकी बात नहीं सुनी और उनकी लापरवाही के चलते उनकी बेटी ने आत्महत्या कर ली। उनका कहना है कि यदि पहले हुई छेड़छाड़ के बाद ही पुलिस आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई करती तो आज उनकी बेटी जिंदा होती।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 स्प्रिंग टूटने के बावजूद रेलवे अधिकारियों ने रवाना की शताब्दी, हादसा टला
2 मध्यप्रदेश: नाबालिग पिला रहे हैं बच्चों को पल्स पोलियो की दवा, प्रशासन ने मूंद रखी हैं आंखें
3 RSS प्रचारक सुशील जोशी हत्याकांड: सबूतों के अभाव में साध्वी प्रज्ञा सहित आठ लोग बरी, फैसला सुनकर रो पड़े दो आरोपी
IPL 2020 LIVE
X