ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेेश: सास के हत्यारे को मिली उम्र कैद, पत्नी की गवाही ने दिलाई सजा

सुबह 4 बजे उठकर कुल्हाड़ी से रसीला बाई की गर्दन पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

Author सिवनी | June 24, 2016 21:02 pm

जिला सत्र न्यायाधीश देवेन्द्र सिंह सोलंकी ने सास की हत्या के जुर्म में एक व्यक्ति को आजीवन कारावास की सजा दी है। वारदात की चश्मदीद आरोपी की पत्नी सहित 8 अन्य व्यक्तियों की गवाही के बाद अदालत ने दोष सिद्घ होने पर यह फैसला सुनाया। लोक अभियोजक जीवनलाल बिसेन ने बताया कि सुशील तेकाम (28) अपनी दो बेटियों व पत्नी के साथ ससुराल बांदरा गांव में मेहमान बनकर आया था। घटवा वाले दिन 25 दिसम्बर 2014 से एक दिन पहले आरोपी का अपनी सास रसीला बाई से खाना खिलाने की बात पर विवाद हुआ था। विवाद के बाद रात्रि में सभी लोग घर में सो गए। इसके बाद आरोपी ने सुबह 4 बजे उठकर कुल्हाड़ी से रसीला बाई की गर्दन पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

उन्होंने बताया कि रसीला बाई की चीख सुनकर आरोपी की पत्नी समेत घर के अन्य सदस्य एकत्रित हो गए। इस बीच आरोपी ने अपनी बेटी को पैर में कुल्हाड़ी मारकर घायल कर दिया और मौके से फरार हो गया। बिसेन ने बताया कि सूचना पर बंडोल थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया। प्रकरण में विवेचना के बाद थाना प्रभारी लक्ष्मण सिंह झारिया ने चालान अदालत में पेश किया। सुनवाई के दौरान आरोपी के खिलाफ गवाहों द्वारा दिए गए बयान एवं सरकारी अधिवक्ता के तर्को से सहमत होकर सत्र न्यायाधीश ने निर्णय दिया। अदालत ने सुशील को धारा 302 भादंवि में आजीवन कारावास एवं 100 रूपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App