ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश में बना कुत्ते का आधार कार्ड, एक गिरफ्तार

आधार कार्ड पर टॉमी सिंह के पिता का नाम शेरू सिंह दर्ज है। टॉमी सिंह की जन्मतिथि 26 नवंबर 2009 दर्ज है।

कुत्ते के आधार कार्ड की तस्वीर (हिंदुस्तान टाइम्स)

मध्य प्रदेश के भिंड जिले में पुलिस ने एक व्यक्ति को अपने कुत्ते का आधार कार्ड बनवाने के आरोप में गुरुवार (30 अगस्त) को गिरफ्तार किया है। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के भिंड के उमरी स्थित एक आधार पंजीकरण एजेंसी की मदद से कुत्ते टॉमी सिंह का आधार कार्ड बनवाया गया। आधार कार्ड पर टॉमी सिंह के पिता का नाम शेरू सिंह दर्ज है। टॉमी सिंह की जन्मतिथि 26 नवंबर 2009 दर्ज है। पुलिस ने एचटी को बताया कि वो आधार पंजीकरण एजेंसी के सुपरवाइजर आजम खान से पूछताछ कर रही है। पुलिस जानना चाहती है कि क्या खान ने अन्य जानवरों का भी आधार कार्ड बनवाया है?

रिपोर्ट के अनुसार ये मामला तब सामने आया जब उमरी के किटी गांव के एक निवासी ने आधार कार्ड बनवाने में आ रही मुश्किलों की बात कहकर आजम खान की एजेंसी के खिलाफ शिकायत की। इस व्यक्ति ने आरोप लगाया था कि खान की एजेंसी कुत्तों और दूसरे जानवरों का आधार कार्ड बनवा रही है लेकिन उन्हें परेशान कर रही है। उमरी के टाउन इंस्टपेक्टर आरएस तोमर ने एचटी को बताया कि आजम खान पर फर्जीवाड़े का मामला दर्ज किया गया है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25199 MRP ₹ 31900 -21%
    ₹3750 Cashback
  • Panasonic Eluga A3 Pro 32 GB (Grey)
    ₹ 9799 MRP ₹ 12990 -25%
    ₹490 Cashback

आधार से जुड़ा ये कोई पहला फर्जीवाड़ा नहीं है। इससे पहले राजस्थान में बजरंगबली के नाम का आधार कार्ड बनवाए जाने का मामला सामने आ चुका है। वहीं झारखंड और गुजरात जैसे बीजेपी शासित प्रदेशों में राज्य सरकारें गायों का आधार कार्ड बनवा रही हैं। हालांकि आधार कार्ड कई विवादों से घिरा रहा है। अभी बीते हफ्ते सुप्रीम कोर्ट की नौ जजों की संविधान पीठ ने आधार कार्ड से जुड़ी एक सुनवाई में निजता को बुनियादी अधिकार घोषित किया। इससे पहले लाखों आधार कार्ड धारकों की निजी जानकारी एक प्राइवेट वेबसाइट पर लीक हो गयी थी। हालांकि केंद्र सरकार आश्वासन देती रही है कि आधार का डेटा पूरी तरह सुरक्षित है। केंद्र सरकार ने विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ लेने और इनकटम टैक्स रिटर्न भरने के लिए आधार कार्ड जरूरी बना दिया है। 12 अंकों के आधार कार्ड में धारक के आंखों के रेटीना और दसों अंगुलियों के निशान होते हैं। आधार कार्ड पर आवास और जन्मतिथि भी दर्ज होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App