ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश: राजनीतिक अस्थिरता से निपटने के लिए कमलनाथ सरकार के मंत्री ने करवाया ‘शत्रु विनाशक’ यज्ञ

कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के चलते कमलनाथ सरकार की स्थिरता पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं।

PC sharmaकमलनाथ सरकार में मंत्री पीसी शर्मा। (ANI)

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में काबीना मंत्री पीसी शर्मा ने 22 कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के बीच शनिवार (14 मार्च, 2020)को ‘शत्रु विनाशक’ यज्ञ या ‘शत्रुओं’ को नष्ट करने के लिए यज्ञ का अनुष्ठान करवाया। कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के चलते कमलनाथ सरकार की स्थिरता पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। शर्मा ने राज्य के आगर मालवा जिले में एक मंदिर में अनुष्ठान किया।

कांग्रेस नेता ने न्यूज चैनल एनडीटीवी से कहा, ‘मैं धार्मिक मामलों और आध्यात्मिक विभाग का मंत्री भी हूं, इसलिए मैं भक्त कल्याण के लिए विभिन्न सरकारी कार्यों का जायजा लेने आया था। हम मां बगलामुखी मंदिर में हैं, इसलिए हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है। 121 कांग्रेस और सहयोगी विधायक हमारे साथ हैं। जब विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होगा तो हम देखेंगे कि चार-पांच अतिरिक्त विधायक हमारा समर्थन करेंगे।’

इसी बीच मध्यप्रदेश भाजपा विधायक दल ने 16 मार्च से शुरु होने वाले विधानसभा सत्र के दौरान सदन में अनिवार्य रुप से उपस्थित रहने और विश्वास मत के दौरान पार्टी के पक्ष में मतदान करने का व्हिप अपने विधायकों को जारी किया है। भाजपा विधायक दल के मुख्य सचेतक नरोत्तम मिश्रा ने पार्टी विधायकों को रविवार को व्हिप जारी किया। विधायकों से 16 मार्च से शुरु होने वाले बजट सत्र में अनिवार्य तौर पर उपस्थित रहने और सरकार के शक्ति परीक्षण में भाजपा के पक्ष में मतदान करने का व्हिप जारी किया है।

मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों से चल रही सियासी उथल पुथल को देखते हुए भाजपा ने अपने विधायकों को एकजुट रखने के उद्देश्य से वर्तमान में हरियाणा के गुरुग्राम के एक होटल में रखा है। प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने शनिवार देर रात कमलनाथ को पत्र लिखकर 16 मार्च से शुरु हो रहे विधानसभा के सत्र में राज्यपाल के अभिभाषण के तुरंत बाद विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने का निर्देश दिया है। राजभवन के सूत्रों ने बताया कि शनिवार आधी रात के आसपास राज्यपाल द्वारा यह पत्र मुख्यमंत्री को भेजा गया ।

दूसरी तरफ राजनीतिक संकट के बीच रविवार को कांग्रेस के विधायक जयपुर से भोपाल पहुंचे। कांग्रेस के 85 विधायक भोपाल पहुंचे। एक विधायक दो दिन पहले ही भोपाल आ गए थे। इन विधायकों को एयरपोर्ट से होटल मैरियट ले जाया गया। दोपहर में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कैबिनेट मीटिंग की। इसके बाद तीन मंत्री विधायकों से मिले। एक मंत्री प्रदीप जायसवाल ने कहा ने बताया कि हमारे पास बहुमत है। इंतजार करें और देखें। कल परीक्षा यानी फ्लोर टेस्ट हो ये जरूरी नहीं। अभी तो कोरोना चल रहा है। इसी तरह दो मंत्रियों सज्जन सिंह और ओमकार सिंह मरकाम ने सोमवार को फ्लोर टेस्ट होने का भरोसा जताया। आज शाम विधायक दल की बैठक भी संभव है। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मध्यप्रदेश के छह बागी विधायक बर्खास्त, विधानसभा स्पीकर ने मंजूर किया इस्तीफा
2 ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पहले ही Congress से दे दिया था इस्तीफा, मोदी-शाह से मुलाकात के बाद सार्वजनिक की चिट्ठी
आज का राशिफल
X