scorecardresearch

जबलपुरः साइकिल चुराने के आरोप पर 9 साल के बच्चे से ज्यादती, कैमरे पर पीटते दिखे पुलिस के जवान

इस घटना का संज्ञान जिले के एसपी ने लिया है और पुलिसकर्मी के खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया है। पुलिसकर्मी को नोटिस भेजकर जवाब भी मांगा गया है।

जबलपुरः साइकिल चुराने के आरोप पर 9 साल के बच्चे से ज्यादती, कैमरे पर पीटते दिखे पुलिस के जवान
बच्चे को पीटता हुआ पुलिसकर्मी (फोटो सोर्स: screengrab/@Anurag_Dwary)

मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक 9 वर्षीय बच्चे को साइकिल चुराने के आरोप में एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने बेरहमी से पीटा। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में पुलिस कांस्टेबल सादी वर्दी में दिखाई दे रहा है और बच्चे को बेरहमी से पीट रहा है। कॉन्स्टेबल की पहचान विशेष सशस्त्र बल के पुलिस कॉन्स्टेबल के रूप में हुई है।

यह घटना शुक्रवार को रांझी थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुई। पुलिस अधीक्षक (एसपी) सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि एसएएफ 6वीं बटालियन के कांस्टेबल की पहचान अशोक थापा के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि कॉन्स्टेबल ने साइकिल चोरी की बात बताए जाने पर मस्ताना चौक के पास लड़के को पकड़ लिया और उसे मारा। आरोपी कॉन्स्टेबल पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाने की सजा), 294 (अश्लील कृत्य) और किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम की धारा 75 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और जबलपुर के एसपी ने घटना का स्वतः संज्ञान लिया है। आरोपी कॉन्स्टेबल को नोटिस भी भेजा जा चुका है। वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि स्कूटी सवार बच्चे को दौड़ाते हुए आता है और फिर वहां पर मौजूद दूसरे की मदद से उसे पकड़ लेता है। वहीं पर उसे मारने लगता है।

एक वीडियो में सफेद बनियान में मौजूद एक पक्षी बच्चे को पैर से मारता हुआ दिखाई दे रहा है बाद में बच्चा भागने का प्रयास करता है लेकिन उसे आरोपी स्कूटी पर बैठा लेता है और लेकर चला जाता है। वायरल वीडियो के अनुसार वहां पर मौजूद एक व्यक्ति घटना को देखते ही वहां पहुंचता है और बच्चे को छुड़ाने का प्रयास करते हैं। लेकिन आरोपी इस पर भड़क जाता है और उस व्यक्ति से भी भिड़ जाता है।

बता दें कि इसके पहले राजस्थान के जालोर में एक 9 वर्षीय बच्चे की शिक्षक की पिटाई के कारण मृत्यु हो गई। बच्चा एक निजी स्कूल में पढ़ता था और वह दलित समुदाय से था। स्कूल में रखे मटके से पानी पीने के कारण शिक्षक बच्चे पर भड़क गया और उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी, जिससे उसकी कान की नस फट गई। 24 दिन बाद बच्चे की एक अस्पताल में मृत्यु हो गई।

पढें भोपाल (Bhopal News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट