ताज़ा खबर
 
title-bar

VIDEO: कांग्रेस नेता का विवादित बयान- राहुल भैया के नेतृत्व में सरकार पर गोली चलाएगा किसान

कुछ समय पहले कांग्रेस की विधायक शकुंतला खटीक का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था। इस वीडियो में वह भीड़ को उकसाती हुई दिख रहीं थी। इस वीडियो में भीड़ कह रही थी कि प्रशासन की गुंडागर्दी नहीं चलेगी।

कांग्रेस नेता का विवादित बयान। (Photo Source: ANI)

मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस के एक और नेता ने उकसाने वाला और विवादित बयान दिया है। यह बयान सतना जिले के कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष दिलीप मिश्रा की ओर से दिया गया है। कांग्रेस नेता ने अपने बयान में कहा, “मध्य प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह उर्फ राहुल भैय्या की मौजूदगी में मंदसौर जिले में पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानों को जिला कांग्रेस कमेटी की तरह से श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। दिलीप मिश्रा ने आगे कहा, “श्रद्धांजलि देने के साथ कसम खाकर यहां से जा रहे हैं कि मध्य प्रदेश के प्रतिपक्ष के नेता राहुल भैया के नेतृत्व में, राहुल भैया की अगुवाई में आने वाले समय में सतना जिले का किसान इस सरकार के ऊपर गोली चलाएगा। कांग्रेस नेता ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए यह बिगड़े बोल। बता दें कि किसान आंदोलन में लगातार राजनीतिकरण नजर आता रहा है। इससे पहले कुछ वीडियो भी सामने आए थे।

कुछ समय पहले कांग्रेस की विधायक शकुंतला खटीक का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था। इस वीडियो में वह भीड़ को उकसाती हुई दिख रहीं थी। इस वीडियो में भीड़ कह रही थी कि प्रशासन की गुंडागर्दी नहीं चलेगी। इस दौरान कांग्रेस की करैरा से महिला विधायक शंकुतला खटीक अपने साथ मौजूद भीड़ से थाने को आग लगा देने की बात कहती हैं। इस वीडियो के सामने आने के बाद राज्य में सत्ताधारी दल बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए इसे उनका असली चरित्र करार दिया था।

बता दें कि करीब 10 दिन पहले किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन पर बैठे थे। जिसके बाद किसानों का विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया है। बीते मंगलवार को पुलिस फायरिंग में मंदसौर में 5 किसान मारे गए थे। जिसके बाद किसान भड़क उठे और उन्होंने सैकड़ों की संख्या में गाड़ियों में आग लगा दी। राज्य में शांति बनाए रखने के लिए सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को उपवास पर बैठे थे। उपवास के दौरान किसान नेताओं ने उनसे मुलाकात की और उनका अनशन खत्म करवाया गया। मुख्यमंत्री ने कहा था कि नकरात्मक तत्वों से सख्ती से निपटा जाएगा। राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखना हमारी प्राथमिकता है। कुछ लोगों ने युवाओं के हाथ में पत्थर पकड़ा दिए हैं। फिलहाल मंदसौर में हिंसा की कोई खबर नहीं आई है।

 

 

किसान आंदोलन: आरएसएस नेता ने ही कर रखा है शिवराज सरकार की नाक में दम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App