ताज़ा खबर
 

भोपाल में कत्लखाने के खिलाफ भाजपा विधायक सड़क पर उतरे, सरकार ने वापस लिया प्रस्ताव

बूचड़खाने के विरोध में स्थानीय नागरिकों के साथ हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई, एवं बौद्ध धर्म के धर्म गुरु सरपंचों व भोपाल के प्रतिष्ठित सामाजिक, धार्मिक एवं व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि सड़कों पर उतरे।

Author August 3, 2017 11:15 PM
भोपाल में प्रस्तावित कत्लखाने का विरोध करते बीजेपी विधायक (फोटो-IANS)

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के आदमपुर छावनी गांव में प्रस्तावित आधुनिक कत्लखाने के विरोध में गुरुवार को सड़क पर उतरे लोगों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक रामेश्वर शर्मा का भी साथ मिला। बढ़ते विरोध के बीच नगर निगम की बैठक में कत्ल खाने (स्लॉटर हाउस) के लिए लाए गए प्रस्ताव को सर्वसम्मति से खारिज कर दिया गया। राजधानी के हुजूर विधानसभा क्षेत्र के आदमपुर छावनी गांव में आधुनिक कत्लखाना खोलने की कोशिशें चल रही थी। इसके विरोध में स्थानीय नागरिकों के साथ हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई, एवं बौद्ध धर्म के धर्म गुरु सरपंचों व भोपाल के प्रतिष्ठित सामाजिक, धार्मिक एवं व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि सड़कों पर उतरे। उनके साथ क्षेत्र के भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा भी थे। राजधानी के एम.वी. एम. कॉलेज के मुख्य द्वार से लोगों की रैली शुरू होकर राजभवन पहुंची। जहां विधायक शर्मा के नेतृत्व में सभी धर्मो के धर्माचार्य एवं अन्य संगठनों के प्रतिनधियों के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल के नाम का ज्ञापन उनके प्रतिनिधि मेजर जी.एस. परिहार को सौंप कर अपनी भावनाओं से अवगत कराया।

विधायक शर्मा का कहना है कि भोपाल के नागरिक नहीं चाहते कि उनका शहर मांस की मंडी के नाम से पहचाना जाए। इस कत्लखाने के निर्माण से गांवों में पशुधन की हानि होगी, मवेशियों की चोरी की घटनाओं में बढ़ोतरी होगी, साथ ही गौ वंश एवं भैंस, बकरी पर खतरा बढ़ जाएगा। एक तरफ भाजपा विधायक की अगुवाई में रैली, प्रदर्शन चल रहा था, तो दूसरी ओर नगर निगम में आदमपुर छावनी गांव में आधुनिक कत्ल खाने का प्रस्ताव आया, जिसे सर्वसम्मति से पार्षदों ने खारिज कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App