ताज़ा खबर
 

भंवरी देवी हत्याकांड: 6 साल से फरार चल रही इंदिरा बिश्नोई को एटीएस ने किया गिरफ्तार

इंदिरा बिश्नोई भंवरी देवी अपहरण और मर्डर केस में नाम आने के बाद से ही फरार चल रही थीं और इस बीच उन्होंने अपने मोबाइल और एटीएम का भी इस्तेमाल नहीं किया।

एटीएस ने भंवरी देवी अपहरण और हत्या की सह आरोपी इंदिरा बिश्नोई को गिरफ्तार किया है। (फाइल फोटो)

बहुचर्चित भंवरी देवी हत्याकांड में राजस्थान आतंक विरोधी दस्ते (एटीएस) ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। यहां एटीएस ने भंवरी देवी अपहरण और हत्या की सह आरोपी इंदिरा बिश्नोई को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि पूर्व कांग्रेस विधायक मलखान सिंह बिश्नोई की बहन इंदिरा बिश्नोई नरमदा नदी के पास एक आश्रय में छिपी हुई थीं। इंदिरा पर पांच लाख रुपए का इनाम था। आज (3 मई, 2017) उन्हें जोधपुर में सीबीआई को सौंप दिया जाएगा। देवास के एसीपी अनिल पाटीदार ने पीटीआई को बताया कि राजस्थान पुलिस ने मध्यप्रदेश पुलिस की मदद से इंदिरा बिश्नोई को नेमावर इलाके से बीती रात गिरफ्तार किया। जानकारी के लिए बता दें कि पेशे से नर्स और दाई भंवरी देवी का जोधपुर के बिलारा क्षेत्र से 1 सितंबर 2001 को अपहरण कर लिया गया था और बाद में उनकी हत्या कर दी गई। वहीं अन्य गैंग ने उनके शव को जलाने के बाद नहर में फेंक दिया था।

HOT DEALS
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 15220 MRP ₹ 17999 -15%
    ₹2000 Cashback
  • MICROMAX Q4001 VDEO 1 Grey
    ₹ 4000 MRP ₹ 5499 -27%
    ₹400 Cashback

करीब चार महीने बाद पुलिस ने शव का बचा हुआ हिस्सा बरामद किया था। इंदिरा बिश्नोई भंवरी देवी अपहरण और मर्डर केस में नाम आने के बाद से ही फरार चल रही थीं और इस बीच उन्होंने अपने मोबाइल और एटीएम का भी इस्तेमाल नहीं किया। इस मामले में एक पूर्व मंत्री और एक विधायक सहित 16 आरोपी जेल में है। लापता होने से पहले इंदिरा बिश्नोई ने मीडिया के सामने यह भी कहा कि उन्होंने मुंह खोल दिया तो कई बड़े लोग संकट में आ जाएंगे।

रिपोर्ट के अनुसार भंवरी देवी के इंदिरा विश्वनोई के भाई और पूर्व विधायक मलखान सिंह से रिश्ते थे। भंवरी देवी के एक बेटी भी मलखान से है। यह बात जांच में साबित की जा चुकी है। राजस्थान की कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे महिपाल मदेरणा की भी भंवरी देवी के साथ एक सीडी थी। जो उस समय चर्चा में आई थी। भंवरी मलखान से अपना हक मांग रही थी। भंवरी से पीछा छुड़ाने के लिए इंदिरा ने अपने रिश्तेदार के साथ उसके अपहरण की साजिश रची। इस साजिश में मलखान और मदेरणा भी शामिल हो गए। साल 2011 में भंवरी को गायब कर दिया गया और उसकी हत्या कर दी गई।

देखें वीडियो, Champions Trophy 2017: भारत VS पाकिस्तान, क्या भारत कर पाएगा पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App